हिमाचल प्रदेश में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया 71वां गणतंत्र दिवस !    राष्ट्रीय पर्व पर दिखी देश की आन, बान और शान !    71वें गणतन्त्र की चुनौतियां !    देखेगी दुनिया वायुसेना का दम !    स्कूली पाठ्यक्रम में विदेशी ज्ञान कोष !    जहां महर्षि वेद व्यास को दिये थे दर्शन !    व्रत-पर्व !    पंचमी पर सिद्धि और सर्वार्थ सिद्धि योग !    गणतन्त्र के परमवीर !    पिहोवा जल रूप में पूजी जाती हैं सरस्वती !    

प्रकाशोत्सव को यादगारी बनाने के लिए बुलाया जायेगा विधानसभा का विशेष सत्र

Posted On September - 11 - 2019

सुल्ताननपुर लोधी में मंगलवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह पंजाब मंत्रिमंडल की पहली बैठक की अध्यक्षता करते हुए। -दैनिक ट्रिब्यून

पाल सिंह नौली
सुल्ताननपुर लोधी, 10 सितंबर (ट्रिन्यू)
पंजाब मंत्रिमंडल की आज यहां हुई मीटिंग में गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव को यादगारी बनाने के लिए अगले महीने विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का फैसला किया गया। मंत्रिमंडल ने इस विशेष सत्र में राष्ट्रपति, उप-रार्ष्टपति तथा प्रधानमंत्री को भी बुलाने का फैसला किया। इसके अलावा सत्र में नामी सिख शख्सियतों को बुलाने का भी फैसला किया गया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह की अध्यक्षता में चंडीगढ़ से बाहर मंत्रिमंडल की इस पहली बैठक में शताब्दी समारोह ही मुख्य केंद्रबिंदु रहे।
मंत्रिमंडल ने 550वें प्रकाशोत्सव को राष्ट्रीय स्तर पर मनाने के लिए संसद के दोनों सदनों का विशेष सत्र बुलाने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह करने का भी फैसला किया गया। मंत्रिमंडल ने यह भी फैसला किया कि संसद के इस विशेष सत्र में राष्ट्रीय तथा सिख शख्सियतों को बुलाने की मांग की जाये और राष्ट्रपति इस विशेष सत्र को संबोधित करें। करीब पौने तीन घंटे चली मंत्रिमंडल की मीटिंग में विभिन्न विभागों के मामले भी पेश किये गये। बैठक में प्रकाशोत्सव के संबंध में चल रहे कामों की समीक्षा के लिए मंत्रिमंडल की बैठक 10 अक्तूबर को दोबारा सुल्तानुपर लोधी में ही करने का फैसला लिया गया।
सुल्तानपुर लोधी को शताब्दी समारोह का तोहफा देते हुए मंत्रिमंडल ने यहां सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल बनाने को भी मंजूरी प्रदान की तथा गुरुद्वारा श्री बेर साहिब से गुरुद्वारा श्री संतघाट तक एक किलोमीटर लंबी सड़क बनाने के लिए 1.24 करोड़ रुपए मंजूर किये। संस्कृति तथा पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव ने लोहियां रोड, कपूरथला रोड, तथा गुरुद्वारा बेर साहिब के निकट 277 एकड़ में बनाये जा रहे टेंट सिटी के बारे में जानकारी दी।
मंत्रिमंडल ने उद्योगों को पर्यावरण के अनुकूल गैस के इस्तेमाल के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से एक अहम फैसले के तहत प्राकृतिक गैस पर वैट की दर 14.30 प्रतिशत से घटाकर 3.30 प्रतिशत करने का फैसला भी किया। पंजाब में इस समय प्राकृतिक गैस पर वैट 13 प्रतिशत और सरचार्ज 10 प्रतिशत है जो कि मिलाकर 14.30 प्रतिशत बनता है।
नेहा शोरी के परिजनों को 31 लाख : मंत्रिमंडल ने आज विशेष केस के तौर पर ड्यूटी के दौरान मारी गई जोनल ड्रग कंट्रोलर लाइसेंसिंग अथारिटी मोहाली की अधिकारी नेहा शोरी के कानूनी वारिसों को करीब 31 लाख रुपए के आर्थिक लाभ देने की मंजूरी भी प्रदान की। नेहा शोरी की इस साल 29 मार्च को ड्यूटी के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
आवासीय प्लाटों में कर्मचारियों के लिए 3 प्रतिशत आरक्षण : मंत्रिमंडल ने हाउसिंग अलाटमेंट के बारे में कई फैसले लेते हुए ईसीजीएचएस स्कीम के तहत जमीन की अलाटमेंट के लिए प्रति एकड़ 40 फ्लैटों की सीमा करने तथा पूडा और विशेष अथारिटियों के तहत आवासीय प्लाटों में कर्मचारियों के लिए 3 प्रतिशत आरक्षण को मंजूरी प्रदान कर दी।
राजनीति से ऊपर उठकर मनायें प्रकाशोत्सव
सुल्तानपुर लोधी (ट्रिन्यू) : मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने सभी पक्षों से गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव को राजनीति से ऊपर उठकर मनाने का आह्वान किया है। अकाल तख्त की अनदेखी संबंधी आरोपों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमरेंद्र सिंह ने कहा कि ‘कोई मां का लाल ऐसा पैदा नहीं हुआ जो अकाल तख्त की हस्ती को चुनौती दे सके। यह छठी पातशाही श्री हरगोबिंद साहि की गद्दी है।’ उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने गत दिवस मुख्यमंत्री पर अकाल तख्त को कमजोर करने के आरोप लगाये थे। पंजाब मंत्रिमंडल की बैठक से पहले गुरुद्वारा श्री बेर साहिब में अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों संग माथा टेकने के बाद अमरेंद्र सिंह ने बातचीत करते हुए हरसिमरत कौर बादल के आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री को कुछ भी पता नहीं है। अमरेंद्र ने कहा कि उन्हें तो हैरानी होती है कि श्रीमती बादल केंद्र में कामकाज कैसे करती होंगी।
कोर्ट मैनेजर के 24 पद सृजित करने को मंजूरी
प्रदेश में न्याय प्रणाली की ओर से न्याय प्रदान करने में और कुशलता तथा तेजी लाने के उद्देश्य से मंत्रिमंडल ने प्रदेश की अधीनस्थ अदालतों में कोर्ट मैनेजर ग्रेड-2 के 24 पद सृजित करने को भी मंजूरी प्रदान की। यह फैसला गृह विभाग तथा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार की ओर से प्राप्त सिफारिश के संदर्भ में लिया गया। इनमें से 22 पद सेशन अदालतों तथा एक पद चंडीगढ़ और एक पद हाईकोर्ट के लिए होगा।


Comments Off on प्रकाशोत्सव को यादगारी बनाने के लिए बुलाया जायेगा विधानसभा का विशेष सत्र
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.