बाबा नानक की भक्ति में सराबोर हुआ शहर !    कस्टडी से भागने की कोशिश, केस दर्ज !    उद्घाटन के 9 माह बाद सरकारी अस्पताल में चिकित्सा शुरू !    सेवानिवृत्त पुलिस कर्मचारी आये दिल्ली पुलिस के समर्थन में !    हेलमेट न दस्तावेज, 28 हजार जुर्माना, स्कूटी भी जब्त !    पाक में सुरक्षा दस्ते  पर हमला, 5 की मौत !    मां, 2 बेटियों पर तेजाब डाला, हालत गम्‍भीर !    सीएम के फोन पर धमकी देने का आरोपी काबू !    रातभर चली मुठभेड़ में 2 और आतंकी ढेर !    वृद्ध महिला के उत्पीड़न मामले में हाईकोर्ट ने मांगी स्टेटस रिपोर्ट !    

न्यायिक हिरासत को चिदंबरम की चुनौती

Posted On September - 12 - 2019

नयी दिल्ली, 11 सितंबर (एजेंसी)
आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में यहां तिहाड़ जेल में कैद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट का रुख करके दावा किया है कि उनके खिलाफ आपराधिक कार्यवाही ‘दुर्भावनापूर्ण’ है और ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ को लेकर की गई है। चिदंबरम ने एक और याचिका दायर कर 5 सितंबर के निचली अदालत के उस आदेश को चुनौती दी है, जिसके तहत उन्हें मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। दोनों याचिकाएं जस्टिस सुरेश कैत के समक्ष सुनवाई के लिए बृहस्पतिवार के लिए सूचीबद्ध हुई हैं।
चिदंबरम(73) को सीबीआई ने 21 अगस्त को यहां उनके जोरबाग स्थित आवास से गिरफ्तार किया था। उन्होंने निचली अदालत का रुख न करके नियमित जमानत के लिए सीधे हाईकोर्ट में याचिका दी है। उन्होंने यह कहते हुए जमानत का अनुरोध किया है कि वह कानून का पालन करने वाले नागरिक हैं। समाज से वह गहरा ताल्लुक रखते हैं और वह उन्हें राहत दिए जाने के दौरान हाईकोर्ट द्वारा लगाई जाने वाली सभी शर्तों का पालन करेंगे।
न्यायिक हिरासत में भेजे जाने के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका में कहा है, ‘वित्त मंत्री के पद पर रहने के दौरान उन्होंने (चिंदबरम ने) 2008 में आईएनएक्स मीडिया नाम की कंपनी में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के संबंध में सिर्फ मंजूरी प्रदान की थी।’ उन्होंने यह भी दलील दी है कि मामले में उनके बेटे कार्ति और आईएनएक्स मीडिया की प्रमोटर इंद्राणी बनर्जी एवं पीटर मुखर्जी सहित अन्य सभी आरोपी नियमित जमानत या अग्रिम जमानत या वैधानिक जमानत पर हैं।


Comments Off on न्यायिक हिरासत को चिदंबरम की चुनौती
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.