आयुष्मान कार्ड बनाने के बहाने 90 हजार की ठगी !    चुनाव के दृष्टिगत कानून व्यवस्था की स्थिति पर की गई चर्चा !    पंप कारिंदों के मोबाइल चुराए, किशोर काबू !    कपूरथला के गांव में 50 ग्रामीण डेंगू की चपेट में !    उमस से अभी राहत नहीं, 5 दिन में लौटने लगेगा मानसून !    गोदावरी नदी में नौका डूबने से 12 लोगों की मौत !    शताब्दी, राजधानी ट्रेनों में दिखेंगे गुरु नानक के संदेश !    ड्रोन हमले के बाद सऊदी अरब से तेल की आपूर्ति हुई आधी !    सरकार मैसेज का स्रोत जानने की मांग पर अडिग !    अर्थशास्त्र का अच्छा जानकार ही उबार सकता है अर्थव्यवस्था : स्वामी !    

जलविहार के बाद आधी रात मंदिरों में विराजे वामन भगवान के हिंडोले

Posted On September - 11 - 2019

जितेंद्र अग्रवाल/हप्र
अम्बाला शहर, 10 सितंबर

अम्बाला शहर में मंगलवार रात 11.30 बजे ठाकुरद्वारा तालाब का दृश्य। -मैनी

प्रदेश स्तरीय वामन द्वादशी मेला मंगलवार को श्रद्धा और उल्लास के साथ संपन्न हो गया। तीन दिन चले मेले में पूजा पाठ के बाद शुरू हुई शोभायात्रा में भगवान के पांच हिंडोलों ने 7 बैंडों, 20 धार्मिक झांकियों के साथ बाजारों से होकर नगर परिक्रमा की। देर रात नौरंगराय सरोवर में जलविहार करवाकर हिंडोलों को वापस संबंधित मंदिरों में स्थापित कर दिया गया। विधायक असीम गोयल ने भी कुछ समय के लिए भगवान के हिंडोले को सवारी दी।
पूरे पूजा उत्सव के दौरान सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए थे। दोपहर को शहर की पुरानी अनाज मंडी में सजे भव्य पंडाल से शोभायात्रा रवाना हुई। सनातन धर्म सभा के प्रधान जीत राम अग्रवाल सहित अन्य पदाधिकारियों व सदस्यों ने मंत्रोच्चारण के साथ भगवान की पूजा अर्चना करके नगर परिक्रमा व जल विहार के लिए रवाना किया। सजाए गए नगर के बाजारों से भगवान की सवारी पांच हिंडोलों में निकली, जिसके दर्शन करने के लिए न केवल शहर के लोग बल्कि दूर दराज से आए श्रद्धालु बड़ी संख्या में दर्शन करते रहे।

अम्बाला शहर में मंगलवार को भगवान वामन के हिंडोले ले जाते श्रद्धालु। -प्रदीप मैनी

पुरानी अनाज मंडी में बने पंडाल से भगवान वामन की सवारी जैसे ही नौरंगराय सरोवर की ओर बढ़ी पूरा नगर ही धर्म नगरी बन कर रह गया। चारों ओर भगवान वामन के जयकारों की गूंज थी। शोभायात्रा में अम्बाला के अलावा दिल्ली, उत्तर प्रदेश आदि के कुल 7 बैंडों ने धार्मिक व देश भक्ति के गीतों की धुनों के माध्यम से उत्सव में कुछ अलग ही रंग बिखेरने का काम किया। इस मौके पर विनोद गर्ग, सेठ मदन लाल,सोमनाथ बिंदल, अरविन्द लक्की, सुदेश जैन, अशोक कुमार, वीरेन्द्र अग्रवाल, संजीव टोनी गोयल, मनोज गोयल, पवन अग्रवाल, मुकेश जिंदल सहित मौजूद थे। शोभा यात्रा पुरानी अनाज मंडी से प्रारंभ होकर तंदुरान बाजार, कोतवाली बाजार, सर्राफा बाजार, दाल बाजार, जैन बाजार, हलवाई बाजार, महावीर जैन मार्ग, बाजार बस्ती राम, कुम्हार मंडी, पुराना सिविल अस्पताल चौ से होते हुए नौरंगराय सरोवर पर पहुंची और भगवान वामन के हिंडोलों को जल विहार करवाकर वापस बड़ा ठाकुर द्वारा, राधे श्याम मंदिर, कलाल माजरी व नौहरियां मंदिर में प्रतिष्ठित कराया।
महिला पहलवानों ने भी दिखाए दांव: शोभायात्रा से पूर्व दंगल का आयोजन किया गया, जिसमें पंजाब एवं हरियाणा के विभिन्न हिस्सों से आए 102 पहलवानों को कुश्ती के लिए पंजीकृत किया गया। इन पहलवानों में 2 रोहतक से, एक पटियाला से तथा एक अम्बाला छावनी से महिला पहलवान ने भी अपने दांवों का प्रदर्शन किया।


Comments Off on जलविहार के बाद आधी रात मंदिरों में विराजे वामन भगवान के हिंडोले
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.