आस्ट्रेलियाई महिला टी20 टीम को पुरुष टीम के बराबर मिलेगी इनामी राशि !    पनामा लीक : दिल्ली हाईकोर्ट ने मांगी स्टेटस रिपोर्ट !    हादसे में परिवार के 3 सदस्यों समेत 5 की मौत !    पुलिस स्टेट नहीं बन रहा हांगकांग : कैरी लैम !    प्रदर्शन के बाद खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत !    कुछ का भत्ता बढ़ा, 25 हजार होमगार्डों की सेवायें समाप्त !    मालविंदर, शिविंदर की पुलिस हिरासत 2 दिन बढ़ी !    भारत को सुल्तान जोहोर कप में जापान ने हराया !    बुकर पुरस्कार : एटवुड एवं एवरिस्टो संयुक्त विजेता !    पीएम से मिलकर उचित मुआवजे की मांग करेंगे धरनारत किसान !    

कांग्रेस करेगी मौजूदा न्यायाधीश से जांच की मांग

Posted On September - 17 - 2019

लुधियाना में सोमवार को कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के सौ दिन के कार्यकाल को उद्योग तथा जन-विरोधी बताते हुए प्रदर्शन किया।-अश्विनी धीमान

शिमला, 16 सितंबर (निस)
हिमाचल प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार के खिलाफ भाजपा के ही एक गुमनाम कार्यकर्ता द्वारा लिखे गए पत्र पर राजनीति लगातार जारी है। प्रदेश कांग्रेस भाजपा सरकार के खिलाफ वायरल हुए पत्र को भुनाने में जुटी है। विधानसभा उपचुनाव से पहले पार्टी इस मामले को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहती। यही कारण है कि कांग्रेस ने इस मामले पर भाजपा पर हमले तेज कर दिए हैं। भाजपा की राजनीति में भूचाल लाने वाले इस पत्र प्रकरण को लेकर कांग्रेस लगातार हमलावर बनी हुई है और राज्यपाल से इस मामले की हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट के किसी मौजूदा न्यायाधीश से जांच की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने आज शिमला में कहा कि लगता है कि पत्र भाजपा के भीतर से ही आया है, तभी मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि उनकी पीठ में छुरा घोंपा गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में एक पूर्व मंत्री का मोबाइल तक जब्त हो चुका है और उससे पुलिस ने पूछताछ भी की है।
राठौर ने कहा कि भाजपा में इन दिनों वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। यह मामला क्योंकि भ्रष्टाचार से जुड़ा है, इसलिए कांग्रेस इस मामले में सवाल उठा रही है। उन्होंने कहा कि पत्र में स्वास्थ्य विभाग में घटिया दवा सप्लाई की बात है और उपकरण खरीद को लेकर भी आरोप लगे हैं। ऐसे में इस मामले की निष्पक्ष जांच जरूरी है, क्योंकि मामला आम गरीब बीमार लोगों से जुड़ा है।

पत्र में लगे आरोप गंभीर
कुलदीप सिंह राठौर ने आज शिमला में कहा कि पत्र में जो आरोप लगाए गए हैं, सरकार उनकी बात नहीं कर रही, बल्कि इसे किसने वायरल किया है, इसकी जांच में जुटी है। उन्होंने कहा कि पत्र में जो आरोप लगाए गए हैं, वे गंभीर हैं और उनकी जांच की जानी चाहिए। उनका कहना था कि यदि पत्र में सच्चाई नहीं है तो सरकार पाक-साफ होकर सामने आती, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कुछ दिनों में इस मामले को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपेगी और उनसे मांग की जाएगी कि इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को सरकार की जांच पर भरोसा नहीं है, क्योंकि वह खुद को ही क्लीन चिट दे रही है। ऐसे में इस मामले की जांच हाईकोर्ट के मौजूदा जज से करवाई जाए।

सौ दिन में सौ महीने पीछे चला गया देश
हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 100 दिन के मौजूदा कार्यकाल में देश आर्थिक मोर्चे पर 100 महीने पीछे चला गया है। राठौर ने आज शिमला में एक पत्रकार वार्ता में कह कि मोदी सरकार के पास उपलब्धियां गिनाने के नाम पर कुछ नहीं है। हर रोज ऑटो मोबाइल और टेक्सटाइल सेक्टर में नौकरियों की छंटनी हो रही है तथा आरबीआई के पास रिजर्व पड़ा सारा पैसा भी निकाल लिया गया है। उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर सरकार के बाद पहली बार देश का सोना गिरवी रखने की नौबत आ गई है। राठौर ने कहा कि देश को आर्थिक मोर्चे पर बर्बादी के कगार पर पहुंचा देने के खिलाफ कांग्रेस पहली अक्तूबर से जनांदोलन करेगी। इसके तहत पहली अक्तूबर को मार्च टू राजभवन का आयोजन किया जाएगा और राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा जाएगा। इसी रोज आर्थिक विशेषज्ञों की मौजूदगी में एक सम्मेलन का भी आयोजन होगा। 2 अक्तूबर को गांधी जयंती के मौके पर पार्टी शिमला में पदयात्रा का आयोजन करेगी। राठौर ने इस मौके पर प्रदेश सरकार पर भी हमला बोला और कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का अब तक का कार्यकाल भी निराशाजनक रहा है। कुलदीप राठौर ने कहा कि धर्मशाला और पच्छाद विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने गतिविधियां आरंभ कर दी हैं। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों के नामों को जल्द ही अंतिम रूप दे दिया जाएगा।


Comments Off on कांग्रेस करेगी मौजूदा न्यायाधीश से जांच की मांग
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.