हरियाणा में मतदान समाप्त, 65 प्रतिशत लोगों ने डाले वोट !    हरियाणा में चार बजे तक 50.59 प्रतिशत मतदान !    कलानौर और महम में कांग्रेस-भाजपा समर्थकों में हाथापाई !    हरियाणा में तीन बजे तक 46 फीसदी मतदान !    बहादुरगढ़ में भिड़े 2 गुट !    हरियाणा में 2 बजे तक 37 फीसदी मतदान !    हरियाणा में सुबह 11बजे तक 22 फीसदी मतदान, सबसे ज्यादा फतेहाबाद में 27 प्रतिशत पड़े वोट !    छिटपुट शिकायतों के बीच हरियाणा में मतदान जारी !    इस बार पहले से दोगुना होगा जीत का अंतर !    आजाद हिंद फौज के सेनानी का निधन !    

आंखों को बनाएं आकर्षक

Posted On September - 21 - 2019

ग्लैमर वर्ल्ड से निकलकर मेकअप ने आम लोगों की ज़िंदगी में अपना दखल इस कदर बढ़ाया है कि हर कोई सुन्दर दिखने की चाह में पार्लर और सैलून के चक्कर काटता है। इन सबके बीच इन दिनों कॉस्मेटिक मार्केट भी तेज़ी से बढ़ रही है। खासकर सेमी-परमानेंट मेकअप सर्विसेज बढ़ रही हैं। इनमें महिलाएं और पुरुष दोनों ही अपनी आईब्रोज़ और आईलैशेज को तवज्जो देते हैं।
सेमी पर्मानेंट एसेसरीज़ की चाह रखने वालों को सर्विसेज देने वाले ‘रैन स्टूडियो’ के एक्सपर्ट अनिरुद्ध खेतान बताते हैं कि सेमी परमानेंट आईब्रोज़ और आईलैशेज़ नेचुरल पलकों और आईब्रोज़ की लंबाई और मोटाई को बढ़ाने का नया तरीका है। इसे आईलैशेज़ एक्सटेन्शन्स या आईब्रोज़ एक्सटेंशन कहते हैं। यह एक्सटेंशन पूरी तरह से नेचुरल दिखाई देता है। करीब से देखे जाने पर भी कोई कह नहीं सकता कि यह सेमी पर्मानेंट है। यह वाटरप्रूफ और स्मजफ्री होते हैं। उनका कहना है कि अभी एवरलास्टिंग ब्रोज पर भी काम हो रहा है। यानी जल्दी ही परमानेंट आईब्रोज़ फिक्स किये जा सकेंगे।

कैसे लगाते हैं
आईलैशेज़ को घना दिखाने के लिए आईलैश के ऊपर एक सिंगल लैश लगाया जाता है। सिन्थेटिक आईलैश एक्सटेंशन करीब 6 महीने तक चलता है और इसमें संक्रमण व खुजली होने का डर भी कम होता है। नेचुरल और सिंथेटिक आइलैशेज दोनों ही सेमी परमानेंट होते हैं, जो कि चार सप्ताह से लेकर तीन महीने तक भी चल जाते हैं। आईलैश एक्सटेंशन में आंखों को, किसी तरह की परेशानी नहीं होती। ठीक इसी तरह से आईब्रोज़ को काला और घना तथा लेयर्ड दिखाने के लिये इन्हें एन्हांस किया जाता है। इन्हें लगाने के दौरान किसी प्रकार का दर्द नहीं होता।

रखरखाव
आमतौर पर फॉल्स लैशेज़ प्रयोग करने के बाद प्लास्टिक के बैग में रख दिया जाता है, जिससे इसमें लगा ग्लु चिपक कर खराब हो जाता है। लैशेज को सुरक्षित रखने के लिए खास तरह के डिब्बे आते हैं। इसीलिए इन्हें हमेशा इन डिब्बों में ही रखेंे। इससे इन सेमी परमानेंट लैशेज का प्रयोग लंबे समय तक किया जा सकता है।

फायदा
आईलैश एक्सटेंशन आंखों की प्राकृतिक सुदंरता को बढ़ाते हैं। आमतौर पर महिलाओं को लगता है कि आईलैश एक्सटेंशन के बाद वो आई मेकअप नहीं कर पाएंगी, लेकिन इसके बाद आप आसानी से मस्कारा का प्रयोग कर सकते हैं।

नेल एक्सटेंशन
मेकअप के मार्केट में आर्टिफिशल या सेमी परमानेंट नेल्स का भी ट्रेंड खूब बढ़ा है। नेल एक्सटेंशन के अलावा नेल आर्ट भी खूबसूरती में चार चांद लगाता है। वैसे भी खूबसूरत दिखने की चाह किसे नहीं होती…।


Comments Off on आंखों को बनाएं आकर्षक
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.