दो गुरुओं के चरणों से पावन अमर यादगार !    व्रत-पर्व !    ऊंचा आशियाना... आएंगी ढेर सारी खुशियां !    आत्मज्ञान की डगर !    झूठ से कर लें तौबा !    इस समोसे में आलू नहीं !    पुस्तकों से करें प्रेम !    बिना पानी के स्प्रे से नहाएंगे अंतरिक्ष यात्री !    मास्टर जी की मुस्कान !    अविस्मरणीय सबक !    

2312 गांवों में एक भी पुलिस केस नहीं, 465 में बेटों से अधिक बेटियां

Posted On August - 13 - 2019

चंडीगढ़ में सोमवार को कृषि एवं पंचायती राज मंत्री ओपी धनखड़ सेवन स्टार रेनबो योजना के बारे में पत्रकारों को जानकारी देते हुए।

चंडीगढ़, 12 अगस्त (ट्रिन्यू)
बिगड़ी कानून एवं व्यवस्था तथा मर्डर और रेप की वारदातों की वजह से कथित रूप से ‘बदनाम’ हरियाणा के लिए अच्छी खबर है। हरियाणा के 2312 गांव ऐसे हैं, जहां पिछले एक वर्ष में एक भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। इन गांवों में आपसी भाईचारा है और छोटे-मोटे झगड़े आपसी बातचीत से ही सुलझा लिए जाते हैं। लोगों को पुलिस थानों और चौकियों तक नहीं पहुंचना पड़ा।
ये वे गांव हैं, जो विकास एवं पंचायत विभाग की ‘सेवन स्टार रेनबो स्कीम’ के तहत अवाॅर्ड हासिल करने वाली ग्राम पंचायतों की सूची में शुमार हैं। पिछले वर्ष पहली बार राज्य में शुरू की गई इस योजना के प्रति ग्रामीणों का रुझान बढ़ा है। सोमवार को राज्य के पंचायती राज मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने योजना के तहत स्टार हासिल करने वाली ग्राम पंचायतों की सूची जारी की। इस मौके पर विभाग के प्रधान सचिव सुधीर राजपाल भी उनके साथ मौजूद रहे। विभाग के सख्त नियमों की वजह से इस बार भी सेवन स्टार की श्रेणी में एक भी ग्राम पंचायत नहीं आई है। अलबत्ता इस बार सिक्स स्टार हासिल करने वाली ग्राम पंचायतों की संख्या 3 से बढ़कर 20 पहुंच गई है। इसी तरह से 58 ग्राम पंचायतों ने फाइव स्टार हासिल किए हैं। पिछले वर्ष इस कैटेगरी में केवल 4 ही पंचायतें पहुंच पाई थीं। पिछले वर्ष चार स्टार हासिल करने वाली 9 ग्राम पंचायतों के मुकाबले इस बार 270 ग्राम पंचायतों को फोर स्टार हासिल हुआ है। थ्री स्टार की श्रेणी में 794 पंचायतें आई हैं, जबकि पिछले वर्ष यह अवार्ड महज 108 पंचायतों को ही मिला था। दो स्टार हासिल करने वाली ग्राम पंचायतों की संख्या 1375 तक पहुंच गई है। पिछले वर्ष 564 पंचायतों को दो स्टार मिले थे। वन स्टार के आंकड़े में तीन गुणा से भी अधिक बढ़ोतरी हुई है। 2018-19 में 434 पंचायतों को वन स्टार मिला था और इस बार इस श्रेणी में 1413 पंचायतें शामिल हैं। विभाग की योजना के तहत हर एक स्टार पर एक लाख रुपये का इनाम ग्राम पंचायत को मिलता है। लिंगानुपात में सुधार और स्वच्छता के मामले में स्टार हासिल करने वाली पंचायतों को बोनस के रूप में एक लाख (50-50 हजार के हिसाब से) अलग से मिलते हैं।
धनखड़ ने कहा कि सिक्स, फाइव स्टार हासिल करने वाली सभी ग्राम पंचायतों के अलावा चार जिलों – रोहतक, झज्जर, चरखी दादरी और भिवानी की एक से लेकर चार स्टार तक हासिल करने वाली सभी ग्राम पंचायतों को मंगलवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में आयोजित सम्मान समारोह में सम्मानित किया जाएगा। केंद्रीय पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पंचायतों के प्रतिनिधियों को सम्मानित करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वे खुद करेंगे और राज्य के सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, रोहतक के सांसद डॉ़ अरविंद शर्मा और बहादुरगढ़ के विधायक नरेश कौशिक समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे।

सिक्स स्टार पाने वाले गांव
पलवल की सबसे ज्यादा 4 और जींद की 3 पंचायतों ने अपने अच्छे कार्यों की वजह से सिक्स स्टार हासिल किए हैं। अम्बाला के चेतन, चरखी दादरी के भद्रा व कमोद, गुरुग्राम के वजीरपुर, हिसार के बहावलपुर, झज्जर के मलिकपुर, जींद के हैबतपुर, बुद्धखेड़ा लाठर व नेपेवाला, पलवल के घरोट, जैनपुर, जनाचोली व नंगला भिकू, पानीपत के झत्तीपुर, रेवाड़ी के बेरली कलां व खेड़ा आलमपुर, रोहतक के काहनौर व भैंसरू कलां, सिरसा के मम्म्डखेड़ा व यमुनानगर के खुर्दबन गांव को सिक्स स्टार मिले हैं।

ओवरऑल रेवाड़ी का प्रदर्शन बेहतरीन
ओवरआॅल रेवाड़ी जिला सबसे आगे रहा है। चार स्टार की कैटेगरी में शामिल 270 ग्राम पंचायतों में से 40 अकेले रेवाड़ी की हैं। इसी तरह से थ्री-स्टार में 64 और टू स्टार में जिला की 74 ग्राम पंचायतों का चयन हुआ है। हिसार के 24, यमुनानगर के 20, महेंद्रगढ़ के 18, गुरुग्राम, जींद व रोहतक के 16-16, अम्बाला व कुरुक्षेत्र के 14-14, झज्जर के 13, पलवल के 11, सोनीपत के 10, फरीदाबाद के 9, सिरसा के 8, चरखी दादरी, फतेहाबाद व पंचकूला के 6-6, भिवानी के 4 तथा पलवल के 3 गांवों को फोर स्टार हासिल हुए हैं।

नाबार्ड से कर्जा लेकर गांवों का विकास
हरियाणा सरकार द्वारा तीन साल पहले दीनबंधु सर छोटूराम के नाम पर बनाई ‘दीनबंधु ग्रामोदय योजना’ सिरे नहीं चढ़ पाई है। पिछले दो वर्षों से लगातार इस योजना के लिए बजट में प्रावधान भी किया जा रहा है, लेकिन इसके लिए अभी तक सरकार पैसों का प्रबंध नहीं कर पाई है। एक बार तो नाबार्ड भी योजना के लिए फाइनेंस करने से इनकार कर चुका है। नाबार्ड के साथ नये सिरे से बातचीत हुई तो नाबार्ड सरकार को 1200 करोड़ के प्रोजेक्ट के बदले महज 300 करोड़ रुपये देने को राजी हुआ है।

गुरुग्राम, हिसार, कुरुक्षेत्र में भी होगा सम्मान समारोह
एक से लेकर चार स्टार हासिल करने वाली बाकी सभी ग्राम पंचायतों के सम्मान समारोह अलग-अलग जोन में होंगे। पिछले वर्ष की तरह कुरुक्षेत्र, गुरुग्राम और हिसार में अलग-अलग दिन सम्मान समारोह आयोजित होंगे। एक सवाल पर धनखड़ ने कहा कि विधानसभा चुनावों की घोषणा से पहले ही पंचायतों को सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिक्स स्टार हासिल करने वाली सभी ग्राम पंचायतों को यह छूट होगी कि वे 20 लाख रुपये तक का कोई भी एक बड़ा विकास कार्य अपने गांव में करवा सकती हैं।


Comments Off on 2312 गांवों में एक भी पुलिस केस नहीं, 465 में बेटों से अधिक बेटियां
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.