फरीदाबाद में टला बाढ़ का खतरा 3 फुट घटा यमुना का जलस्तर !    मासूम को ट्रेन में बैठाकर महिला फरार !    विभाग की फर्जी आईडी बनाकर ठगे 2 लाख !    राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने दिए जांच के आदेश !    जन्मस्थल पर पूजा करने का मांगा अधिकार !    टोल से बचने को गांव से गुजरते हैं ओवरलोडेड वाहन !    नये कानून  के खिलाफ एक और याचिका !    हैफेड ने आढ़ती पर किया 36 लाख के गबन का केस !    अफगानिस्तान से कश्मीर में आतंकी भेजने का षड्यंत्र !    टेल तक पहुंचे पानी वरना पेड़ों पर चढ़ करेंगे प्रदर्शन !    

सुषमा स्वराज के ‘सर्वस्पर्शी’ व्यक्तित्व काे किया याद

Posted On August - 14 - 2019

नयी दिल्ली में मंगलवार काे शोकसभा में दिवंगत भाजपा नेता सुषमा स्वराज काे श्रद्धांजलि देते पीएम नरेंद्र मोदी। (इनसेट) इस मौके पर सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज ने भी अपनी मां काे याद किया। -ट्रिन्यू

नयी दिल्ली, 13 अगस्त (एजेंसी)
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर शोक प्रकट किया और उन्हें मानवीय भावना से ओतप्रोत ऐसा सर्वस्पर्शी व्यक्तित्व बताया जिसने देश से बाहर संकट में पड़े भारतीयों की मदद करके सभी के दिलों को जीतने का काम किया। सुषमा स्वराज (67) का 6 अगस्त को दिल का दौरा पड़ने के कारण एम्स में निधन हो गया था। कैबिनेट की आज सुबह बैठक में एक प्रस्ताव को स्वीकार किया गया जिसमें कहा गया है कि सुषमा स्वराज को हमेशा उनके अभूतपूर्व भाषण कौशल और करुणामयी सोच के लिये याद किया जाएगा। इसमें कहा गया है, ‘वह एक सक्षम प्रशासक और मानवीय भाव से युक्त सर्वस्पर्शी व्यक्तित्व थीं जिन्होंने देश से बाहर परेशानी में फंसे भारतीयों की मदद कर उनका दिल जीतने का काम किया। इन्हीं गुणों के लिये उन्हें 2017 में अमेरिकी दैनिक ‘वाल स्ट्रीट जर्नल’ द्वारा भारत की सबसे स्नेह की जाने वाली राजनीतिज्ञ घोषित किया था।’
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विभिन्न दायित्वों में राष्ट्र की सेवा के लिये सुषमा स्वराज की ‘आन रिकार्ड’ सराहना की। प्रस्ताव में कहा गया है, ‘उनके निधन से देश ने एक उत्कृष्ट नेता एवं असाधारण सांसद को खो दिया।’ इसमें कहा गया है कि भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज काफी युवावस्था में सार्वजनिक जीवन में आईं और 1977 में 25 वर्ष की आयु में हरियाणा विधानसभा का चुनाव जीता और राज्य मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री बनीं। वे 1990 में राज्यसभा के लिये चुनी गई थीं और 1996 में 11वीं लोकसभा के लिये निर्वाचित हुईं। उन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्री का दायित्व सौंपा गया था। अक्तूबर 1998 में वे दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं। साल 2009 में वे 15वीं लोकसभा में विपक्ष की नेता बनीं। 2014 में 16वीं लोकसभा में चुने जाने के बाद उन्होंने मई 2019 तक विदेश मंत्री का कार्यभार संभाला।


Comments Off on सुषमा स्वराज के ‘सर्वस्पर्शी’ व्यक्तित्व काे किया याद
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.