किताबों से दोस्ती !    'किसी कमज़ोर पर कभी मत हंसना' !    बुज़ुर्गों के अधिकार !    ओ रे... कन्हैया !    गुस्से से मिली सीख !    लज़्जत से भरपूर देसी ज़ायका !    नयी खोजों का दौर जारी !    सार्वजनिक स्थल पर शिष्टाचार !    व्रत-पर्व !    बच्चों को सिखायें डे टू डे मैनर्स !    

सीएम आवास घेरने जा रहे प्रदर्शनकारियों को रोका

Posted On August - 14 - 2019

करनाल में मंगलवार को सीएम आवास घेरने जा रहे प्रदर्शनकारियों को रोकती पुलिस। -सईद अहमद

करनाल, 13 अगस्त (हप्र)
प्रदेशभर से आये हजारों कंप्यूटर टीचर्स ने मंगलवार को प्रदर्शन कर यहां सीएम कैंप आफिस का घेराव किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सरकार को चेतावनी दी कि यदि उनके साथ सीएम की बैठक न कराई गई तो 16 अगस्त को जींद में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का घेराव करेंगे। घंटों तक पुलिस के साथ चली रस्साकसी के बाद जब कंप्यूटर टीचर्स सड़क पर धरना देकर बैठ गये तो अधिकारियों द्वारा उनका ज्ञापन लेकर चंडीगढ़ में कल 11 बजे सीएम के ओएसडी के साथ वार्ता का समय दिलवाया गया। इससे पहले प्रदर्शनकारी टीचर्स ने कैंप आफिस के बाहर लगाये गये बेरिकेड्स लगाकर आगे बढ़ने का प्रयास करने लगे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया।
इस मौके पर कंप्यूटर टीचर वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष बलराम धीमान ने कहा कि बीते 6 साल से उनकी एक ही मांग है कि उन्हें स्थाई किया जाये। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट तक ने उनकी मांग को सही माना है। 24 जुलाई को सीएम ने बैठक के दौरान कहा कि उनकी मांग जायज है और अधिकारियों के साथ बैठक करवाकर उनका समाधान किया जाएगा, लेकिन हुआ कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि बीते 6 साल में उन्हें 12 बार हटाया गया और फिर लगाया गया। पहले वेतन 12 हजार था, बाद में घटाकर 10 हजार कर दिया। लोकसभा चुनाव से पहले वेतन 15 हजार हो गया और फिर जून की छुट्टियों में घर बैठा दिया गया।

मंजूरशुदा पदों पर करें समायोजित
प्रदर्शनकारी शिक्षकों ने कहा कि प्रदेश में उनकी संख्या 2200 है। सरकार के पास सहायक सहायक कंप्यूटर साइंस टीचर के 3216 मंजूरशुदा पद हैं। उन्हें वहां समायोजित किया जाये। उन्होंने कहा कि यह पहली सरकार है जो वादा करती है, पर काम नहीं करती।


Comments Off on सीएम आवास घेरने जा रहे प्रदर्शनकारियों को रोका
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.