उन्नाव पीड़िता के लिए निकाला कैंडल मार्च !    श्रमिकों के शवों का पुलिस ने करवाया पोस्टमार्टम !    पेंशनर्स की मांगों की होगी पैरवी : भाटिया !    धोखाधड़ी से उड़ाया 20 लाख से भरा बैग !    सुभाष कुहाड़ बने जाट सभा के प्रधान !    ट्रक चालक को बंधक बनाकर लूटा !    10 माह बाद भी पुलिस हाथ खाली !    ट्रक-कार में भीषण टक्कर, एक मरा !    हसला ने डिप्टी सीएम के सामने रखी समस्याएं !    ‘वास्तविक जीडीपी वृद्धि दर 5% से कम रहेगी’ !    

फल्गु तीर्थ करोड़ों किये खर्च, काम अभी तक अधर में

Posted On August - 14 - 2019

कैथल के फरल में फल्गु तीर्थ के प्लेटफार्म पर भरा बारिश का पानी।-हप्र

कैथल, 13 अगस्त (हप्र)
गांव फरल के फल्गु तीर्थ पर करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी तीर्थ विस्तारक का काम अधूरा पड़ा हुआ है। जो कार्य अभी तक किया गया है, उसमें प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से काफी गोलमाल होने की आशंका ग्रामीणों द्वारा व्यक्त की जा रही है। ग्रामीण रोषस्वरूप फल्गु तीर्थ पर हुए कार्यों को लेकर 20 अगस्त के मुख्यमंत्री के प्रस्तावित जन चेतना यात्रा के दौरान फरल में मुख्यमंत्री को मांग पत्र भी सौंपेंगे कि वर्ष 2018 में आयोजित मेले के दौरान खर्च व वर्ष 2015 मेले के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा घोषित 2.50 करोड़ रुपए की ग्रांट के खर्च की जांच करवाई जाए।
विस्तारक तीर्थ को बनाने का जब कार्य शुरू हुआ था तभी से ही निर्माण सामग्री और अन्य कार्य को लेकर इस पर सवाल खड़े होते रहे हैं। निर्माण कार्य को लेकर कई बार ग्रामीणों द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों को शिकायतें भी कि गई, लेकिन जांच के नाम पर सिवाय खानापूर्ति के इस पर कुछ नहीं हुआ। तीर्थ का आलम यह है कि अब जरा-सी बारिश होने पर पानी प्लेटफार्मों और घाटों पर खड़ा हो जाता है। इसके चलते घाटों और प्लेट फार्म पर लगा पत्थर उखड़ना शुरू हो गया है। गत वर्ष आयोजित मेले के दौरान भी मुख्यमंत्री द्वारा तीर्थ के सौंदर्यकरण के लिए 4.98 करोड़ रुपये मंजूर किये गये थे, जिसमें से मेला प्रशासन ने मेले के आयोजन में कम समय का हवाला देते हुए लगभग 1.50 करोड़ रुपये मेला प्रबंधन पर ही खर्च दिए। इसके अलावा मेले के दौरान तीर्थ की सफाई करने के लिए पानी निकालना था। उसमें पनप रही मछलियों को ग्राम सरपंच द्वारा 9.50 लाख रुपए में बेचा गया और ग्रामीणों को उस पैसे को तीर्थ पर ही खर्च करने के लिए कहा गया, लेकिन आज तक उस पैसे को भी नहीं लगाया गया।
मेले के पैसे की जांच तक चुप नहीं बैठेंगे : आर्य
किसान संघ के प्रदेश सचिव रणदीप आर्य, बजेंद्र सिंह, विक्की राणा, दिलबाग सिंह, महिपाल, सोहनलाल, शेर सिंह व जिले सिंह ने कहा कि सरकार फल्गु तीर्थ के लिए हर मेले के दौरान करोड़ों रुपए की ग्रांट तीर्थ व गांव के विकास के लिए देती है, लेकिन अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदारों द्वारा उस राशि में से 50 प्रतिशत ग्रांट भी सही ढंग से खर्च नहीं की जाती है। उन्होंने कहा कि 20 अगस्त के मुख्यमंत्री के गांव आगमन पर उन्हें लिखित में पूरी स्थिति से अवगत करवाया जाएगा।


Comments Off on फल्गु तीर्थ करोड़ों किये खर्च, काम अभी तक अधर में
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.