घर बुलाएं माखनचोर !    बच्चों को ऐसे बनाएं राधा-कृष्ण !    करोगे याद तो ... !    घटता दबदबा  नायिकाओं का !    हेलो हाॅलीवुड !    चैनल चर्चा !     हिंदी फीचर फिल्म : फेरी !    सिल्वर स्क्रीन !    अनुष्का की फोटो पर बवाल !    हेयर कलर और कट से गॉर्जियस लुक !    

नस्ली भेदभाव के खिलाफ सिख बच्ची की ‘अनोखी’ जंग

Posted On August - 11 - 2019

लंदन, 10 अगस्त (एजेंसी)
लंदन में खेल के एक मैदान में ‘आतंकवादी’ कहे जाने के बाद 10 वर्षीय ब्रिटिश सिख लड़की ने सोशल मीडिया पर इस संदेश के साथ पलटवार किया कि समुदाय के बारे में ‘नस्ली मुद्दे’ से निपटने के लिए अधिक जानकारी को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। मुंसिमार कौर का वीडियो संदेश उसके पिता ने ट्विटर पर पोस्ट किया है। बृहस्पतिवार को ‘लाइव’ होने के बाद इसे 47 हजार से अधिक बार देखा जा चुका है। वीडियो में पगड़ी पहने हुए लड़की को उक्त घटना के बारे में साहसिक तरीके से बताते हुए देखा जा सकता है। घटना मंगलवार को दक्षिणपूर्व लंदन में प्लमस्टीड खेल के मैदान में हुई। कौर ने अपना अनुभव एक नोटबुक में लिखा है। उसने नोटबुक से अपना अनुभव पढ़ते हुए कहा, ‘सोमवार और मंगलवार को एक पार्क में 4 लड़कों और एक लड़की की मां ने मेरे साथ बहुत अच्छा व्यवहार नहीं किया।’ उसने कहा, ‘सोमवार को करीब 14 से 17 वर्ष के 2 लड़कों और 2 लड़कियों से जब मैंने साथ खेलने के लिए कहा, जो वे खेल रहे थे, तो उन्होंने जोर से कहा कि ‘नहीं तुम नहीं खेल सकती क्योंकि तुम आतंकवादी हो।’ उसने कहा कि इन शब्दों ने निश्चित तौर पर उसे ठेस पहुंचायी, लेकिन वह अपना सिर ऊंचा रखते हुए वहां से चली आयी। उसने बताया कि वह अगले दिन उसी स्थान पर दोबारा पहुंची जब उसने 9 वर्षीय एक लड़की को मित्र बना लिया था। कौर ने उस लड़की का बचाव किया, क्योंकि यह उसकी गलती नहीं थी। उसने कहा, ‘एक घंटे के बाद उसकी मां ने उसे बुलाया और कहा कि वह मेरे साथ नहीं खेल सकती, क्योंकि मैं परोक्ष रूप से खतरनाक हूं।’ कौर ने संदेश में कहा, ‘इस अनुभव ने मुझे बताया कि कुछ लोगों में जानकारी की कमी है। सिख स्वभाविक रूप से दयालु होते हैं और चाहे जो भी हो हम सभी को प्यार करेंगे।’

 


Comments Off on नस्ली भेदभाव के खिलाफ सिख बच्ची की ‘अनोखी’ जंग
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.