सिल्वर स्क्रीन !    हेलो हाॅलीवुड !    साहित्यिक सिनेमा से मोहभंग !    एक्यूट इंसेफेलाइिटस सिंड्रोम से बच्चों को बचाएं !    चैनल चर्चा !    बेदम न कर दे दमा !    दिल को दुरुस्त रखेंगे ये योग !    कंट्रोवर्सी !    दुबला पतला रहना पसंद !    हिंदी फीचर फिल्म : फर्ज़ !    

दिल्ली में मंदिर तोड़ने के विरोध में जीटी रोड जाम

Posted On August - 14 - 2019

करनाल में मंगलवार को जीटी रोड जाम करके बैठे प्रदर्शनकारी। -सईद अहमद

करनाल, 13 अगस्त (हप्र)
दिल्ली के तुगलकाबाद में गुरु रविदास मंदिर में तोड़फोड़ से गुस्साये समाज के हजारों लोगों ने आज दोपहर करीब दो घंटे तक जीटी रोड पर जाम लगाकर रोष प्रदर्शन किया। इस दौरान दिल्ली से चंडीगढ़ मार्ग के तमाम वाहन करनाल के दोनों और फंसे रहे। परेशान यात्रियों ने भी बार-बार प्रदर्शनकारियों से जाम खोल देने की गुहार लगाई, लेकिन उन्होंने कहा कि जब तक उनकी समस्या का समाधान नहीं हो जाता, वह जाम नहीं खोलेंगे। इससे पहले प्रदर्शनकारी सदर बाजार रविदास मंदिर सभा से रोष प्रदर्शन करते हुए जिला सचिवलय पहुंचे। वह प्रशासन के समक्ष अपनी बात रखना चाहते थे, लेकिन जब उन्हें अधिकारियों से मिलने का अवसर नही मिला तो उन्होंने जीटी रोड का रुख कर लिया।
पुलिस को प्रदर्शनकारियों के मंसूबे पता चलने से पहले ही उन्होंने जीटी रोड पत्थर डालकर मार्ग को बाधित कर दिया बौर बड़ी संख्या में महिला प्रदर्शनकारी सड़क पर बैठ गई। समाज के युवक वहां रुके वाहनों पर जा चढ़े और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। इस दौरान भारी पुलिस बल की मौजूदगी में उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक एसएस भोरिया व अन्य आलाधिकारियों ने जद्दोजहद करके प्रदर्शनकारियों को जाम खोल देने के लिये मनाया।
मंदिर तोड़ने के विरोध में प्रदर्शन
नारायणगढ़ (निस) : दिल्ली में श्री रविदास विश्राम धाम मंदिर को तोड़े जाने के विरोध में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सुखविंन्द्र नारा व कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एसडीएम कार्यालय नारायणगढ़ के सामने धरना प्रदर्शन कर केन्द्र की भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने तहसीलदार दिनेश ढिल्लों को ज्ञापन सौंपा। सुखविन्द्र नारा ने कहा की मंदिर के टूटने से देश के करोड़ों लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है।
रविदासिया समाज भड़का
टोहाना (निस) : दिल्ली के गांव तुगलकाबाद में प्राचीन गुरु रविदास मंदिर एवं विश्राम धाम तोड़े जाने के खिलाफ रविदासिया समाज के लोगों ने मंगलवार को शहर भूना में रोष प्रदर्शन व हंगामा किया। प्रदर्शनकारी लोगों ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंक कर विरोध प्रकट किया। सिरसा-चंडीगढ़ रोड भूना में शहीद उधम सिंह चौक पर प्रधानमंत्री का पुतला भी फूंका और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा। रविदास समाज के लोगों के गुस्से को देखते हुए प्रदर्शन के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने को लेकर भारी पुलिस बल जगह-जगह तैनात किया गया था। प्रदर्शनकारी रविदास मंदिर से शुरू होकर पुराना बाजार, कुलां रोड, नया बस स्टैंड, टोहाना रोड, अनाज मंडी होते हुए उकलाना रोड पर चौक पहुंचे। इस अवसर पर दयानंद, राजेश दहिया, रमेश कुमार, राजेश लांग्यान, कृष्ण कुमार, शमशेर सिंह भुक्कल, सुदेश ग्रोवर, सुखदेव सिंह आदि मौजूद थे।
लोगों ने प्रदर्शन कर जताया रोष
कुरुक्षेत्र (हप्र) : दिल्ली में तकरीबन 600 साल पुराने ऐतिहासिक रविदास मंदिर को तोड़े जाने को लेकर रविदास समाज के लोगों ने मंगलवार को रोष प्रदर्शन किया। श्री गुरु रविदास मंदिर एवं धर्मशाला कमेटी की अगुआई में प्रदर्शनकारी रविदास मंदिर से रोष मार्च करते हुए पुराने बस अड्डे, मोहन नगर चौंक व नए बस अड्डे के समीप पहुंचे। प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थीं। प्रदर्शनकारियों ने श्री गुरु रविदास मंदिर एवं धर्मशाला कमेटी व समाज की ओर से महामहिम के नाम उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर मंदिर कमेटी के प्रधान रणपत, पूर्व प्रधान फकीर चंद, भले राम, सचिव तारा चंद, सुनील सभ्रवाल, जयपाल जेई, रीना वाल्मीकि, नीलम बडोंदा, ओमप्रकाश, जसमेर सिंह, शकुंतला भट्टी सहित समाज के अनेक लोग व महिलाएं मौजूद रही।
पानीपत में भी किया विरोध
पानीपत (एस) : दिल्ली के तुगलकाबाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर करीब 600 साल पुराने श्री गुरु रविदास मंदिर को गिराए जाने का पानीपत में भी विरोध किया गया। मंगलवार को संत शिरोमणि श्री गुरू रविदास विश्व महापीठ ने जहां अतिरिक्त जिला उपायुक्त प्रीति को ज्ञापन सौंप कर गुरू महाराज का प्राचीन मंदिर गिराए जाने की निंदा करते हुए उसी स्थल पर गुरू रविदास का भव्य मंदिर बनाने के लिए यह भूमि संत रविदास से जुड़े संगठनों को देने की अपील की है। वहीं श्री गुरु रविदास सभा, जिला पानीपत के कार्यकर्ताओं ने भी दिल्ली के तुगलकाबाद में संत शिरोमणि रविदास के मंदिर को गिराए जाने के विरोध में पानीपत में जलूस निकाला और लघु सचिवालय पर प्रदर्शन किया।
बंद करवाई मार्केट
मुस्तफाबाद (निस) : भीम आर्मी के काजल खानपुर की अध्यक्षता में राहुल, रवि कुमार, मायाराम इत्यादि अनेक युवकों द्वारा थाना छप्पर में मार्केट को बन्द कराया गया। गुरु रविदास के मन्दिर विवाद को लेकर एक ज्ञापन एसएचओ ललित सिंह को दिया गया।
भाईचारे की भावनाओं को पहुंची ठेस
कलायत (निस) : सुप्रीमकोर्ट के आदेश पर दक्षिणी दिल्ली के तुगलकाबाद में श्री गुरु रविदास जी का मंदिर गिराने के विरोध में रविदास समाज ने मंगलवार को श्री रैदास तख्त हरियाणा के तत्वावधान में उपमंडल कार्यालय परिसर में प्रदर्शन कर कलायत उप-तहसीलदार के माध्यम से भारत सरकार को ज्ञापन दिया गया। श्री रैदास तख्त हरियाणा प्रधान डा. प्रीतम सिंह कौलेखां ने कहा कि दिल्ली के तुगलकाबाद में गुरु रविदास के मंदिर को गिराए जाने की कार्रवाई को लेकर दलित भाईचारे की भावनाओं को ठेस पहुंची है। इस दौरान रामकुमार धानियां, राजेश जेष्ट कश्मीर हंसडेहर, राममेहर दुब्बल, हरपाल पिंजूपुरा, चंद्रभान कौलेखां धर्मपाल, ओमप्रकाश मिस्त्री व समाज के अन्य लोग मौजूद रहे।

शाहाबाद में एसडीएम को ज्ञापन सौंपते रविदासिया समाज के लोग।-निस

शाहाबाद में प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन
शाहाबाद मारकंडा (निस) : दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर तोड़े जाने से शाहाबाद रविदासिया समाज में रोष है, जिसके कारण सर्वजातीय व रविदासिया समाज के लोगों ने मंगलवार को शाहाबाद में रोष प्रदर्शन निकाला और राष्ट्रपति के नाम सम्बोधित ज्ञापन एस.डी.एम. राजीव प्रसाद को सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से समाज ने मांग की कि तोड़े गए मंदिर को पुन: मूल रूप दिया जाए, क्योंकि मंदिर तोड़े जाने से समाज के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करते हुए वीरेन्द्र बिंदा, सुनीता नेहरा, बिमला सरोहा, कुलविन्द्र ढकाला व जगमाल गोलपुरा ने किया। प्रदर्शनकारी रविदास मंदिर से शुरू होकर रेलवे रोड, जगदीश मार्ग, देवी मंदिर रोड, सिविल अस्पताल रोड व जीटी रोड से होते हुए तहसील कार्यालय पहुंचे। एसडीएम ने प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया कि यह ज्ञापन आज ही आगे भेज दिया जाएगा।

कैथल सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करते हुए दलित समाज के लोग1-हप्र

सड़क पर फूटा रविदासिया समाज का गुस्सा
कैथल (हप्र) : दिल्ली में गुरु रविदास का मंदिर गिराने जाने के विरोध में दलित समुदाय के लोगों का सड़कों पर गुस्सा फूट पड़ा। रविदासिया समाज के लोगों ने सड़क पर उतरकर भाजपा सरकार विरोधी नारे लगाए। इससे पूर्व दलित समुदाय के लोग जवाहर पार्क में एकत्रित हुए। यहां से जुलूस की की शक्ल में सरकार के मोदी व खट्टर सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए नवग्रह चौक से जाट ग्राउंड होते हुए लघु सचिवालय पहुंचे। वहां पहुंचकर उन्होंने डीसी डा. प्रियंका सोनी को अपनी मांगों का एक ज्ञापन सौंपा। रविदासिया समाज के नेताओं रामेश्वर बालू, रमेश कुतुबपुर, शाम मांडी, नरेन्द्र दास, कृष्ण दास आदि ने कहा कि उनके गुरु का 600 वर्ष पुराना मंदिर तोड़ा गया है, जिससे उनकी भावना को ठेस पहुंची है। अगर सरकार ने दोबारा मंदिर नहीं बनवाया तो हम आने वाली 21 अगस्त को दिल्ली में जंतर-मंतर पर राष्ट्रीय स्तर पर धरना-प्रदर्शन करेंगे और सड़कें जाम कर देंगे। प्रदर्शन में डा. भीमराव अंबेडकर सभा, बहुजन समाज पार्टी, जन कल्याण सोसाइटी, पार्षद संजय भौरिया सहित विभिन्न दलित संस्थाओं के लोग भी शामिल थे। मंदिर गिराये जाने के विरोध में बहुजन समाज द्वारा बंद का आह्वान भी किया गया था, लेकिन कैथल में बंद बेअसर रहा। किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए पुलिस ने किये पुख्ता प्रबंध किये हुए थे।
रोष प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा
पिहोवा (निस) : संत गुरु रविदास मंदिर को सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार तोड़ने की कार्रवाई की निंदा व भर्त्सना करते हुए पिहोवा में रोष स्वरूप प्रदर्शन किया और उपमंडल अधिकारी नागरिक को राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर महिंद्र कन्थला ने कहा मंदिर तोड़ने की कार्रवाई से देशभर के लाखों-करोड़ों संत रविदास महाराज जी के अनुयायियों के हृदय को ठेस पहुंची है। इस मौके पर अजय कुमार, ईशवर सिंह भटेड़ी, रघुवीर मांगना, शैंकी असमानपुर, विशाल वाल्मीकि बीबीपुर, कपिल वाल्मीकि, जगदीप बाजीगर आसमान पुर, पिहोवा व गांवों से विभिन्न समाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
लोगों ने किया विरोध व्यक्त
यमुनानगर (हप्र) : दिल्ली के तुगलकाबाद में गुरु रविदास महाराज के प्राचीन मंदिर को दिल्ली सरकार द्वारा तोड़ दिये जाने के विरोध में बिलासपुर क्षेत्र की रविदास सभाओं एवं अम्बेडकर सभाओं ने डेरा बाबा लालदास कपालमोचन में एकत्रित होकर बाबा निर्मल दास की अगुआई में रोष प्रकट किया। इस दौरान समाज के लोगों ने दिल्ली सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर एसडीएम को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। बाबा निर्मल दास सेवक अमरनाथ ज्ञासड़ा ने बताया कि समाज के लोगों द्वारा 21 अगस्त को दिल्ली के जंतर-मंतर पर होने वाले राष्ट्रीय स्तर के धरने प्रदर्शन में बिलासपुर कपालमोचन व जिले से भारी संख्या में समाज के लोग भाग लेंगे। इस मौके पर रामकिशन, रमेश कुमार, फूलचंद रिटायर्ड डीएसपी, ताराचंद, मोनू, रवि चौधरी, उषा कमल मारवा खुर्द, सुरेश कांन्हड़ी, सहीराम, सुदेश व किरणपाल कोटड़ा खास आदि उपस्थित रहें।


Comments Off on दिल्ली में मंदिर तोड़ने के विरोध में जीटी रोड जाम
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.