सिल्वर स्क्रीन !    हेलो हाॅलीवुड !    साहित्यिक सिनेमा से मोहभंग !    एक्यूट इंसेफेलाइिटस सिंड्रोम से बच्चों को बचाएं !    चैनल चर्चा !    बेदम न कर दे दमा !    दिल को दुरुस्त रखेंगे ये योग !    कंट्रोवर्सी !    दुबला पतला रहना पसंद !    हिंदी फीचर फिल्म : फर्ज़ !    

खुद को जानने का अवसर है एकांत

Posted On August - 12 - 2019

रेनू सैनी

क्या आप खुद के साथ कभी डेट पर गए हैं? यह पढ़कर आपको अटपटा अवश्य लग रहा होगा और आप सोच रहे होंगे कि भला खुद के साथ भी कभी डेट पर जाया जाता है। आज डिजिटल कनेक्टिविटी की बदौलत व्यक्ति को अपने साथ रहने का अवसर कम ही मिल पाता है। यही कारण है कि व्यक्ति बहुत जल्दी हताश, निराश और तनावग्रस्त हो जाते हैं। अकेले मस्तिष्क में नवाचार एवं सृजन के बीज पनपते हैं। पर इन बीजों को उभरने का अवसर तब ही प्राप्त होता है जब व्यक्ति खुद के साथ रहे। खुद के साथ रहने का मतलब है कि कुछ समय अपनी मर्जी से अकेले रहने का चुनाव करना।
एकांत बेहद लाभकारी होता है। इसलिए विद्यार्थी एकांत में पढ़ते हैं। कला भी एकांत में ही तराशी जाती है और अकेलेपन में ही मन को शांति मिलती है। अकेलेपन को अक्सर लोग नकारात्मक समझते हैं और अकेले रहने से डरते हैं। यदि अकेलेपन को सकारात्मक तरीके से लिया जाए तो अनेक लोगों का जीवन संवर जाए। जो लोग व्यस्त जीवन जीते हैं, सामाजिक मेल मिलाप में अधिक व्यस्त रहते हैं, उनके लिए कुछ समय अकेले में बिताना विश्राम और नवीनीकरण का अवसर प्रदान करता है। कुछ लोगों को लगता है कि अकेलेपन में होने से असहजता होती है, भय का आभास होता है। यदि ऐसा है तो आप एकांत में सदैव सकारात्मक अनुभव और विचार तलाशिए, यकीनन आपको अकेले में समय बिताना अच्छा लगने लगेगा।
प्रत्येक दिन लगभग 15 मिनट अकेले निकालें और महीने में एक बार खुद के साथ अच्छी डेट पर जाएं। ‘डेट’ पर आप उस व्यक्ति के साथ जाते हैं, जिसके साथ आपको समय बिताना बहुत अच्छा लगता है। घंटों बीत जाएं लेकिन समय का ध्यान ही नहीं रहता। अब आप सोचिए कि जब आप अपने प्रिय व्यक्ति के साथ डेट पर घंटों गुजार सकते हैं तो क्या अपने साथ डेट पर आप एक घंटा नहीं गुजार सकते। यदि आपका जवाब न आता है तो इसका स्पष्ट अर्थ है कि आपको खुद से प्रेम नहीं है, न ही आपके अंदर आत्मविश्वास है और न ही आपके अंदर दृढ़ संकल्प है। जो व्यक्ति अपने साथ डेट पर भी उतने ही रोमांच एवं खुशी का अनुभव करते हैं, जितना अपने प्रिय व्यक्ति के साथ तो निश्चित रूप से वे व्यक्ति जीवन के कठिनतम दौर में भी नहीं हार सकते।
‘डेट’ कहने से व्यक्ति के अंदर एक रोमांच एवं उत्सुकता बनी रहती है। फिर चाहे यह डेट अपने साथ ही क्यों न हो। इसके साथ ही डेट से व्यक्ति को यह भी मालूम रहता है कि उसे अकेले समय बिताना है। अपने साथ डेट पर जाने का यह अर्थ कतई नहीं है कि आपके साथ कोई नहीं है या आपके सामाजिक संबंधों में कोई कमी है, बल्कि ऐसा करना एक अच्छी चीज है। वर्ष 2011 में एक शोध अध्ययन, ‘एन एक्सरसाइज टू टीच द साइकोलॉजिकल बेनिफिट्स ऑफ साम्लिट्यूड : द डेट विथ द सेल्फ’ ने पाया कि खुद के साथ डेट पर जाने वाले अनेक लोगों को न केवल असीम शांति का अनुभव हुआ, बल्कि उन्होंने अपने व्यक्तित्व में एक नयी ऊर्जा एवं जोश का संचार भी अनुभव किया। अनेक लोगों को अपने साथ डेट पर जाकर सुखद संयोग इसलिए हुआ क्योंकि वे जो करना चाहते थे, उसे सामाजिक बंधनों या अपेक्षाओं के बिना करने में उन्हें स्वतंत्रता का अहसास हुआ।
यदि आपको अब भी यह समझ नहीं आ रहा है कि आप खुद के साथ डेट पर कैसे जाएं तो इसका समाधान भी किए देते हैं। आपको जो भी काम करना पसंद हो, जिस भी कार्य में रुचि हो वहां अकेले जाएं। यदि आपको रेस्तंरा में भोजन करना पसंद है तो आप अपने मनपसंद रेस्तंरा में भोजन करें। यदि आपको प्रकृति से प्रेम है तो आप बड़े-बड़े बगीचों में जाएं और वहां पर फूल-पत्तियों को निहारें। खुद के साथ डेट तय करने का मुख्य मतलब खुद के साथ रहना है। ऐसा करके आप स्वयं को और करीब से जानते हैं। जो लोग सारी जिंदगी दूसरों के साथ भागने में बिता देते हैं, उन्हें एक पड़ाव पर महसूस होता है कि वे खुद के लिए कभी जीए ही नहीं, खुद उन्होंने कभी अच्छे कपड़े पहनकर स्वयं को आइने तक में नहीं निहारा, न ही परिवार की पसंद के चलते कभी मनपसंद भोजन किया। यह अफसोस लोगों को तब महसूस होता है जब उनका शरीर जवाब देने लगता है।
जब व्यक्ति वृद्ध और बीमार रहने लगता है तो उसे अपना अधिकतर समय अकेले ही बिताना पड़ता है। यहां पर अकेलापन मजबूरी के चलते है जबकि डेट का अकेलापन स्वयं को खुशी और स्पेस देने के लिए है। जो व्यक्ति युवा काल से अपने साथ महीने में एक बार डेट पर अवश्य जाते हैं, उन्हें वृद्धावस्था में अकेले समय बिताना अधिक नहीं खटकता। यदि आप चाहते हैं कि आपकी वृद्धावस्था खूबसूरत, मुस्कराहट भरी और आनंददायक हो तो आज से ही प्रतिदिन कुछ मिनट और हर महीने एक बार अपने साथ डेट पर अवश्य जाएं।


Comments Off on खुद को जानने का अवसर है एकांत
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.