सिल्वर स्क्रीन !    हेलो हाॅलीवुड !    साहित्यिक सिनेमा से मोहभंग !    एक्यूट इंसेफेलाइिटस सिंड्रोम से बच्चों को बचाएं !    चैनल चर्चा !    बेदम न कर दे दमा !    दिल को दुरुस्त रखेंगे ये योग !    कंट्रोवर्सी !    दुबला पतला रहना पसंद !    हिंदी फीचर फिल्म : फर्ज़ !    

आरोपियों की तलाश में 8 टीमें, बैंक खुलते ही चाबियां लेकर पहुंचे लोग

Posted On August - 14 - 2019

पानीपत, 13 अगस्त (निस)
पंजाब एंड सिंध बैंक में 6 लॉकर तोड़कर बदमाश करीब 3 किलो सोना और लाखों रुपए ले गये। मामले में तीनों सीआईए समेत पुलिस की 8 टीमें मामले की जांच कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्राथमिक जांच में सामने आया है कि लॉकर तोड़ने वालों को बैंक में कहां क्या है, सब पता था। लॉकर रूम की छत से लेकर किस लॉकर में क्या रखा है। जाचं में सामने आया है कि बदमाशों ने कुछ चुनिंदा लॉकरों को ही तोड़ा है, जिसमें काफी सोना रखा था।
गुरुद्वारा संत नरैण भाई सिंह के परिसर स्थित गुरु नानक पब्लिक वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के 45 साल पुराने भवन में चल रहे पंजाब एंड सिंध बैंक से इतनी बड़ी चोरी होना सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठा रहा है। पता चला है कि स्ट्रांग रूम की दीवारें काफी कमजोर थी और छत की हालत भी काफी खराब है। इसी का फायदा उठाकर बदमाश स्कूल की छत का लेंटर तोड़कर बैंक के स्ट्रांग रूम में दाखिल हुए थे। बदमाशों ने फर्श का कंडम लेंटर, कटर, हथौड़े और छेनी से तोड़ डाला। बदमाश वारदात को अंजाम देकर सीसीटीवी कैमरे भी तोड़कर चले गए। बता दें कि बदमाश स्कूल की छत तोड़कर बैंक में दाखिल हुए थे और स्ट्रांग रूम से 6 लॉकरों को तोड़कर वहां से सोना ले गए थे। हैंडलूम व्यापारी अजय लखीना की पत्नी ने कहा कि लॉकर में 15 साल से जेवर रखे थे, ताकि जेवर सुरक्षित रह सके, लेकिन बदमाशों ने जमा पूंजी लूट ली है। बैंक उन्हें जेवर दिलवाए। नहीं तो वे बर्बाद हो जाएंगे। सेक्टर-12 के हैंडलूम व्यवसायी जोगेंद्र सिंह की पत्नी रविंद्र कौर ने बताया कि बैंक के लॉकर में उसके संयुक्त परिवार की महिलाओं के जेवर रखे थे। बदमाशे उनके जेवर लूट ले गए। रमन पुहाल ने बताया कि उनकी मां सुमित्रा, उनकी पत्नी, उनके बड़े भाई एडवोकेट प्रवेश पुहाल व छोटे भाई प्रशांत की पत्नी के जेवर लॉकर में रखे थे। इसमें असरफी भी थी। बैंक का लेंटर कमजोर था। इसी को तोड़ बदमाश खून-पसीने की कमाई को लूट ले गए। बैंक भी सुरक्षित नहीं तो घर पर कैसे सुरक्षा रहेगी।
कागजी कार्रवाई कर 18 उपभोक्ता ले गये सोना
बैंक के लॉकर टूटने के बाद मंगलवार को 72 लोग बैंक पहुंचे। इनमें वो लोग भी शामिल थे, जिनके लॉकर टूटे थे। आज 18 लोग कार्रवाई कार्रवाई करके अपना सोना और अन्य कीमती सामान लेकर चले गए। बता दें कि बैंक में 200 में से 196 लॉकर काम कर रहे थे। सोमवार सुबह बैंक के लॉकरों से चोरी की सूचना मिलते ही उपभोक्ता लॉकर की चाबी लेकर बैंक पहुंचे। लोगों का आक्रोश देख पुलिसकर्मी ने बैंक से बाहर आकर बताया कि लॉकर सुरक्षित हैं। चोरी नहीं हुई है। जिन लोगों के लॉकर से चोरी हुई उनका बुरा हाल था।
डेढ़ साले पहले 3 करोड़ की हुई थी लूट
पुलिस को करीब डेढ़ साल पहले 29 जनवरी 2018 को जिस गैंग ने सनौली रोड पर आईआईएफएल गोल्ड कंपनी के कर्मचारियों को बंधक बनाकर साढ़े 3 करोड़ का सोना व ढाई लाख रुपये कैश लूटा था। उसके बाद 22 मार्च को शहर के बड़े कारोबारी संजय चौधरी के घर घुसकर बदमाशों ने पूरे परिवार को बंधक बना लिया और 15 लाख के गहने व चार लाख रुपये कैश लूट ले गए थे। हालांकि अभी तक ये दोनों मामले अनट्रेस है पर पुलिस को यह भी शक है कि रविवार रात को पंजाब एंड सिंध बैंक के लॉकरों से हुई लूट को भी गोल्ड की लूट करने वाले उसी गैंग ने अंजाम न दिया हो।
बैंक की सुरक्षा पर उठाए सवाल
एसपी सुमित कुमार ने बताया कि बैंक की सुरक्षा खामी थी। स्ट्रांग रूम की दीवारें भी काफी कमजोर थी। पुलिस की 8 टीमें आरोपियों को पकड़ने के लिए बनाई गई हैं। इनमें किला थाना पुलिस की 2 टीमें, पानीपत की तीनों सीआईए सहित कुल 8 टीमें जांच कर रही है। बैंक में सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम नहीं थे। आसपास के सीसीटीवी कैमरे की जांच की जा रही है।


Comments Off on आरोपियों की तलाश में 8 टीमें, बैंक खुलते ही चाबियां लेकर पहुंचे लोग
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.