घर बुलाएं माखनचोर !    बच्चों को ऐसे बनाएं राधा-कृष्ण !    करोगे याद तो ... !    घटता दबदबा  नायिकाओं का !    हेलो हाॅलीवुड !    चैनल चर्चा !     हिंदी फीचर फिल्म : फेरी !    सिल्वर स्क्रीन !    अनुष्का की फोटो पर बवाल !    हेयर कलर और कट से गॉर्जियस लुक !    

अयोग्य ठहराये गये विधायकों का शीघ्र सुनवाई का अाग्रह

Posted On August - 14 - 2019

नयी दिल्ली, 13 अगस्त (एजेंसी)
सुप्रीमकोर्ट ने मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा के अयोग्य ठहराए गए कांग्रेस तथा जद (एस) के बागी विधायकों से कहा कि वे अपनी याचिका शीघ्र सुनवाई के लिये सूचीबद्ध करने के संबंध में रजिस्ट्रार को ज्ञापन दें। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष इन बागी विधायकों की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने इस मामले का उल्लेख करते हुये उनकी याचिका शीघ्र सूचीबद्ध करने का अनुरोध किया। इस पर पीठ ने कहा कि इस संबंध में रजिस्ट्रार को ज्ञापन दिया जाये।
रोहतगी ने पीठ को बताया कि इन सभी विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया गया है। उन्होंने कहा कि उनके मामले को 19 अगस्त को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाये। गौरतलब है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के विश्वास प्रस्ताव पर 29 जुलाई को मतदान से पहले विधानसभा अध्यक्ष ने 17 असंतुष्ट विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया था। सदन में शक्ति परीक्षण में सफल नहीं होने के कारण कुमारस्वामी ने पद से इस्तीफा दे दिया था और इसके बाद राज्य में बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी। कांग्रेस के 2 विधायकों-रमेश एल जारकिहोली और महेश कुमाथाली तथा एक निर्दलीय आर शंकर को विधानसभा अध्यक्ष ने 25 जुलाई को अयोग्य घोषित कर दिया था। अन्य 14 बागी विधायकों को 28 जून को अयोग्य घोषित किया गया था। जद (एस) के अयोग्य विधायक-एएच विश्वनाथ, के गोपालैया और नारायण गौडा ने अध्यक्ष के फैसले को चुनौती देते हुये याचिका दायर कर रखी है। कांग्रेस के विधायक प्रताप गौडा पाटिल, बीसी पाटिल, शिवराम हेब्बर, एसटी सोमशेखर, बी बसवराज और मुनिरत्न ने अलग याचिका दायर की है। कांग्रेस के ही रोशन बेग, आनंद सिंह, एमटीबी नागराज, सुधाकर और सैंड श्रीमंत पाटिल को भी अयोग्य ठहराया गया था।


Comments Off on अयोग्य ठहराये गये विधायकों का शीघ्र सुनवाई का अाग्रह
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.