दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन !    5 मिनट में फिट !    बीमारियां भी लाता है मानसून !    तापसी की 'सस्ती पब्लिसिटी' !    सिल्वर स्क्रीन !    फ्लैशबैक !    सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार !    खबर है !    हेलो हाॅलीवुड !    हरप्रीत सिद्धू फिर एसटीएफ प्रमुख नियुक्त !    

समय से पहले अंतर्ध्यान हो सकते हैं बाबा बर्फानी

Posted On July - 13 - 2019

जम्मू में शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा के लिए पंजीकरण कराने के लिए लाइन में लगे साधु। -प्रेट्र

जम्मू, 12 जुलाई (हप्र/एजेंसी)
अमरनाथ यात्रा में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या से बाबा बर्फानी के समय से पहले अंतर्ध्यान होने का खतरा बढ़ गया है। पिछले कई साल से ऐसा ऐसा देखने को मिला है कि श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या से हिमलिंग समय से पहले भक्तों की सांसों के कारण पिघल गए। एक जुलाई से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा में अब तक करीब पौने 2 लाख श्रद्धालु भोलेनाथ के दर्शन कर चुके हैं। ये आंकड़ा पिछले साल के मुकाबले 29 हजार अधिक है। हालांकि, इस साल हिमलिंग 22 फुट का बना है, जो पिछले साल से ज्यादा है। साल 2018 में हिमलिंग की ऊंचाई 15 फुट थी। विशेषज्ञों के मुताबिक, अमरनाथ ग्लेशियरों से घिरा है। ऐसे में ज्यादा लोगों के वहां पहुंचने से तापमान बढ़ने की आशंका होगी। इससे ग्लेशियर जल्दी पिघलेंगे। साल 2016 में भी भक्तों की ज्यादा भीड़ के अमरनाथ पहुंचने से हिमलिंग तेजी से पिघल गया था। उस वर्ष यात्रा के महज 10 दिन में हिमलिंग पिघलकर डेढ़ फीट के रह गए थे।
3 श्रद्धालुओं की मौत : अमरनाथ यात्रा में शामिल 3 और श्रद्धालुओं की मौत हो गई। उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने के कारण हुई। एक यात्री गुजरात, दूसरा झारखंड व तीसरा छत्तीसगढ़ का बताया जा रहा है।
12वां जत्था रवाना
अमरनाथ यात्रा के लिये शुक्रवार को 5,395 श्रद्धालुओं का 12वां जत्था आधार शिविर से रवाना हुआ। अधिकारियों ने बताया कि पिछले 11 दिन की यात्रा के दौरान अमरनाथ गुफा के दर्शन करने वाले लोगों की संख्या एक लाख 44 हजार 58 हो गई। उन्होंने बताया कि 12वें जत्थे में 4,129 पुरुष, 1,115 महिलाएं, 29 बच्चे और 122 साधु शामिल हैं। ये सभी 207 वाहनों में कश्मीर के पहलगाम और बालटाल आधार शिविर से रवाना हुए।


Comments Off on समय से पहले अंतर्ध्यान हो सकते हैं बाबा बर्फानी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.