बच्चों की जगह रोबोट भी जा सकेगा स्कूल !    क्रिसमस की टेस्टी डिशेज़ !    खुद से पहले दूसरों की सोचें !    आ गई समझ !    अवसाद के दौर को समझिये !    बच्चों को ये खेल भी सिखाएं !    नानाजी का इनाम !    निर्माण के दौरान नहीं उड़ा सकते धूल !    घर में सुख-समृद्धि की हरियाली !    सीता को मुंहदिखाई में मिला था कनक मंडप !    

सकारात्मक सोच रखती है फिट

Posted On July - 13 - 2019

फिटनेस मंत्र/रिया सेन

हरनीत मथारू
सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाली रिया सेन आये दिन अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ से जुड़े अपडेट इंस्टाग्राम पर तस्वीरों और वीडियोज़ के ज़रिए शेयर करती रहती हैं। इन दिनों वह वेबसीरीज़ कर रही हैं। इससे पहले ‘रागिनी एमएमएस 2.0, पति पत्नी और वो’ जैसी पॉपुलर वेब सीरीज में भी नज़र आ चुकी हैं। रिया सेन के फिटनेस सीक्रेट जानते हैं…
नियमित एक्सरसाइज
नियमित रूप से जिम जाती हूं। जिम में ज्यादातर स्ट्रेचिंग और स्पिनिंग करती हूं। स्पिनिंग करना मुझे बेहद अच्छा लगता है। कई बार तो फ्री रहने पर डेढ़ से दो घंटे तक स्पिनिंग कर लेती हूं। छह साल पहले मैंने स्पिनिंग करना शुरू किया था। तब से यह मेरी फिटनेस रिज़ीम का अटूट हिस्सा बन गया है। यह मुझे बहुत रिलैक्स करता है। एक बार स्पिन करने से लगभग आठ सौ कैलोरी घटती है। इस कारण मुझे दूसरी एक्सरसाइज़ करने की जरूरत नहीं पड़ती है। एक रिंग को कमर में रखकर उसे घुमाना ही स्पिनिंग है। वर्कआउट करने के बाद विटामिन-सी की गोली लेती हूं या जूस।
सलाद है बेस्ट
मुझे नहीं लगता कि खुद को भूखा रखना या दिनभर सलाद खाकर रहना आपके हैल्थ के लिए अच्छा है। मेरे माता-पिता कभी जिम नहीं गए हैं फिर भी वे हेल्दी और फिट हैं। दरअसल, उनकी फिटनेस का राज है— नियमित दिनचर्या का पालन करना। वे बताती हैं ‘हालांकि, फिल्मों की शूटिंग के कारण मुझे मुश्किलें आती हैं फिर भी अपनी दिनचर्या को अनुशासित रखने का प्रयास करती हूं। मुझे लगता है कि अगर, आप फिट और हेल्दी रहना चाहते हैं तो सबसे जरूरी है नियमित दिनचर्या का पालन करना। सही समय पर सोना और सही समय पर जागने से हम पूरे दिन एक्टिव रहते हैं। इस कारण एक्सरसाइज़ करने की एनर्जी भी मिलती है।
डाइट चार्ट फॉलो नहीं करती
मैं कोई स्टि्रक्ट डाइट प्लान फॉलो नहीं करती हूं। खाने की मात्रा पर नियंत्रण रखती हूं और कुछ भी ऐसा नहीं खाती हूं, जिससे सेहत खराब हो। मुझे लगता है हर व्यक्ति के शरीर की बनावट अलग-अलग होती है। रिया का मानना है कि हर किसी के शरीर का मेटाबॉलिज्म अलग होता है। किसी पर खाने का जल्दी असर होता है तो किसी की फिटनेस कुछ भी खाने से प्रभावित नहीं होती। इसलिए मुझे जो अच्छा लगता है वह खाती हूं। सौभाग्य से मेरी पाचन-शक्ति अच्छी है, इसलिए परेशानी नहीं होती हूं।


Comments Off on सकारात्मक सोच रखती है फिट
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.