आधी आबादी में उत्साह घूंघट के साथ मतदान !    नाबालिग से रेप के मुख्य आरोपी को भेजा जेल !    कर्णी सिंह रेंज पर भिड़े निशानेबाज !    विवाहिता की मौत सास-ससुर और पति गिरफ्तार !    पंजाब में 70, हिमाचल में 69 फीसदी मतदान !    देश के लिए जेल गए थे सावरकर, मोदी की तारीफ !    संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से, हंगामे के आसार !    2 पर ढाई लाख का इनाम !    परिणामों पर विचार के बाद दें फैसला !    देशभर में बैंकों की आज हड़ताल !    

विधान में भक्ति और अध्यात्म का अनूठा संगम

Posted On July - 14 - 2019

यमुनानगर के श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में मंडल पर अर्घ चढ़ाते श्रद्धालु। -हप्र

यमुनानगर,13 जुलाई (हप्र)
श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में तीन लोक के सिद्धों की आराधना के लिये अष्टाहिनका पर्व के अवसर पर आठ दिवसीय सिद्ध चक्र महामंडल विधान का भव्य आयोजन किया गया। अभिषेक, शांतिधारा, पूजा प्रक्षाल, विश्वशांति महायज्ञ के पश्चात विधान का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मंदिर प्रधान नरेंद्र कुमार जैन ने की जबकि संचालन सुशील जैन व गौरव जैन ने किया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में पद्मभूषण से सम्मानित दर्शन लाल जैन व व्रती पुरुषोतम दास जैन उपस्थित रहे।
कार्यक्रम के दौरान ब्रह्मचारिणी सुनीता दीदी ने अपने प्रवचन में कहा कि सिद्ध चक्र विधान में भक्ति और अध्यात्म का अनूठा संगम है। उनके अनुसार विधान में सिद्धों की श्रेणी में शामिल होने के लिए नियम, उपाय आदि बताए गए हैं। जैन धर्म में अष्टाहिनका पर्व के अवसर पर आठ दिन के लिये इस प्रकार के पाठ थापे जाते हैं। उन्होंने कहा कि कार्तिक, फाल्गुन व अषाढ़ के अंतिम आठ दिनों में यह पर्व मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि अष्टमी से प्रारंभ होकर चतुर्दशी व पूर्णिमा तक पाठ कर के तप-त्याग किया जाता है और उपवास भी किया जाता है। इस पर्व में अनुष्ठान विशेष फलदाई होते है।
विधान में शैलबाला जैन, कोकेश जैन, राजबाला जैन, विभा जैन, शिखा जैन, रितिका जैन, मंजूषा जैन, नीरु जैन, मंजू जैन, संतोष जैन, हितैशी जैन, प्रतिभा जैन, रेखा जैन, अर्चना जैन, सुनीता जैन, मीनू जैन, राधा जैन, नीरा जैन व रूबी जैन आदि उपस्थित रहे।


Comments Off on विधान में भक्ति और अध्यात्म का अनूठा संगम
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.