वर्तमान डगर और कर्म निरंतर !    लिमिट से ज्यादा रखा प्याज तो गिरेगी गाज !    फिर उठा यमुना नदी पर पुल बनाने का मुद्दा !    कश्मीर में चरणबद्ध तरीके से बहाल होगी इंटरनेट सेवा !    बर्फबारी ने कई जगह तोड़ी तारबंदी !    सुजानपुर में क्रिकेट सब सेंटर जल्द : अरुण धूमल !    पंजाब में नदी जल के गैर-कृषि इस्तेमाल पर लगेगा शुल्क !    जनजातीय क्षेत्रों में ठंड का प्रकोप जारी !    कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या !    सेना का 'सिंधु सुदर्शन' अभ्यास पूरा !    

बच्चों को सिखाएं पार्टी मैनर्स

Posted On July - 21 - 2019

मोनिका अग्रवाल
जब भी किसी पार्टी में जाना हो तो हम सोच में पड़ जाते हैं कि बच्चों को साथ लेकर जायें या नहीं। कारण, है बच्चों की शैतानियां। कभी-कभी उनकी किसी न किसी हरकत की वजह से माता-पिता को शर्मिंदा होना पड़ जाता है। खेल-कूद अलग है लेकिन खाते समय कपड़े खराब करना, दूसरे बच्चों से झगड़ना, शांति से न बैठना, रिश्तेदारों से बुरा बर्ताव या बदतमीज़ी ऐसी कई आदतें हैं, जो अक्सर बच्चे पार्टियों या फंक्शन में करते हैं। जानते हैं, कुछ पार्टी मैनर्स, जो बच्चों को सिखाना बहुत ज़रूरी है।
मेलजोल सिखाएं
अक्सर देखा गया है कि जब भी किसी गेट-टुगेदर, फंक्शन या पार्टी में जाते हैं तो बच्चे किसी भी व्यक्ति से बात करना पसंद नहीं करते। अगर बच्चों को लेकर ऐसी किसी जगह पर जा रहे हैं तो उन्हें पहले ही समझाएं कि सभी से किस प्रकार ‘हेलो’ या ‘नमस्ते’ करना है। किसी भी बात का क्या जवाब देना है ताकि आपको उस समय शर्मिंदा न होना पड़े। कहीं ऐसा न हो कि आपके जानने वाले, बच्चे से कुछ पूछे और बच्चा बिना जवाब दिए आपके पीछे दुबक जाए या इधर-उधर देखने लगे।
आरामदायक कपड़े
माहौल के अनुरूप बच्चे को आरामदायक कपड़े पहनायें। ऐसा न हो कि कुछ ज्यादा ही मॉडर्न कपड़े बच्चे को पहना दें और वह सारा वक्त असहज़ महसूस करे। ऐसा होगा तो बच्चा बार-बार अपने कपड़ों की वजह से परेशान होगा। छोटे बच्चे तो शर्ट-जैकेट उतार कर फेंकने भी लग जाते हैं। इसके साथ ही बच्चों को बताएं कि किस तरह से उठना-बैठना है। कहीं ऐसा न हो बच्चा बार-बार ज़मीन पर बैठ जाए, कपड़े गंदे करे। बच्चों को कपड़ों का ध्यान रखना भी सिखाएं। बच्चों को ज्यादा हल्के या ज्यादा गहरे रंग के कपड़े न पहनायें।
टेबल मैनर्स
अक्सर देखने में आता है कि बच्चे खाना खाने के मौकों पर जो मन में आता है, वही खाना चाहते हैं, भले ही खाने का सही सलीका उन्हें पता न हो। बेहतर है कि आप बच्चे को घर में ही टेबल मैनर्स की जानकारी दें। ताकि किसी भी फंक्शन और पार्टी में आपको परेशानी न उठानी पड़े।
अनुशासन ज़रूरी
पार्टी में जब बच्चों को अपने हमउम्र मिलते हैं तब वे एक अलग दुनिया में खो जाते हैं। उन्हें न तो पेरेंट्स की परवाह होती है न किसी रिश्तेदार की। ऐसे समय में वे खूब मस्ती करते हैं। मस्ती अपनी जगह है लेकिन ऐसा करते समय सामान की तोड़-फोड़ करना, झगड़ना, गाली-गलौज करना अशिष्ट व्यवहार है। इसलिए बच्चों को पहले से ही समझा-बुझाकर लेकर जाएं। बच्चों को शुरू से ही अनुशासन में रहना सिखाएं कि खेलना अलग बात है, मगर ऐसा कोई काम न करें कि दूसरों का नुकसान और मां-बाप को परेशानी का सामना करना पड़े। यदि बच्चा आपकी बताई हुए बातों का पालन करता है तो इस बात के लिए उसे कोई गिफ्ट अवश्य दें। ताकि बच्चे को अच्छा लगे और अगली बार और भी अच्छे तरीके से आपकी बात माने।
खुद परोसें खाना
पार्टी, डिनर, लंच-टाइम या फिर स्नैक्स के समय आप बच्चे के साथ खड़ी रहें। बच्चे को प्लेट स्वयं लगा कर दें ताकि खाना बच्चे के कपड़ों पर न गिरे। यह भी ज़रूरी है कि बच्चे को उसकी पसंद का ही खाना परोसा जाए न कि आपकी पसंद का। बच्चा यदि शोर मचायेगा तो आपको ही शर्मिंदगी उठानी पड़ेगी। ज्यादा छोटा बच्चा है तो उसको खुद ही खाना खिलाएं।
अपने में न हों मस्त
कई बार देखने में आता है कि किसी भी फंक्शन, पार्टी में पेरेंट्स अपने आप में इतने मस्त हो जाते हैं कि उन्हें बच्चों का ध्यान ही नहीं रहता। इसलिए बच्चों को उसी फंक्शन या पार्टी में लेकर जाएं, जहां उनका मन लगे। दूसरी बात, बच्चों को अपने हमउम्र के साथ खेलने दें। लेकिन नज़र भी ज़रूर रखें। उस समय बच्चों को ज्यादा टोका-टाकी करना भी सही नहीं रहता है। वरना बच्चा चिढ़कर ऐसी हरकत करेगा, जिससे आपको शर्मिंदा होना पड़ेगा।


Comments Off on बच्चों को सिखाएं पार्टी मैनर्स
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.