बच्चों की जगह रोबोट भी जा सकेगा स्कूल !    क्रिसमस की टेस्टी डिशेज़ !    खुद से पहले दूसरों की सोचें !    आ गई समझ !    अवसाद के दौर को समझिये !    बच्चों को ये खेल भी सिखाएं !    नानाजी का इनाम !    निर्माण के दौरान नहीं उड़ा सकते धूल !    घर में सुख-समृद्धि की हरियाली !    सीता को मुंहदिखाई में मिला था कनक मंडप !    

धोनी को 7वें नंबर पर उतारना भारी चूक

Posted On July - 12 - 2019

मैनचेस्टर, 11 जुलाई (भाषा)
पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्वकप सेमीफाइनल में महेंद्र सिंह धोनी को 7वें नंबर पर उतारकर भारी गलती की। हार्दिक पंड्या और दिनेश कार्तिक को धोनी से पहले भेजा गया जब भारत के 4 विकेट 24 रन पर निकल गए थे। लक्ष्मण ने कहा,‘धोनी को पंड्या से पहले भेजा जाना चाहिये था। यह भारी तकनीकी चूक थी। धोनी को दिनेश कार्तिक से पहले आना चाहिये था। 2011 में वह युवराज सिंह की जगह चौथे नंबर पर आये और विश्व कप जिताया।’ गांगुली ने कहा कि बात सिर्फ धोनी की बल्लेबाजी की नहीं बल्कि दूसरे छोर पर युवा बल्लेबाजों पर उनके प्रभाव की भी थी। ऋषभ पंत और पंड्या खराब शाट खेलकर आउट हुए। गांगुली ने कहा,‘भारत को उस समय अनुभव की जरूरत थी। पंत के क्रीज पर रहने के समय धोनी साथ होते तो उसे हवा के विपरीत वह शाट नहीं खेलने देते। इंगलैंड में यह काफी अहम है।’ उन्होंने कहा,‘धोनी को ऊपर भेजना चाहिये था। आपको उसके शांत स्वभाव की उस समय जरूरत थी। वह रहते तो ऐसे विकेट नहीं गिरते। जडेजा की बल्लेबाजी के समय धोनी थे और दोनों का तालमेल गजब का था। 7वें नंबर पर धोनी को भेजना गलत था।’ सचिन तेंदुलकर ने कहा,‘सवाल यह है कि ऐसे हालात में क्या आपको अनुभव के आधार पर धोनी को ऊपर नहीं भेजना चाहिये था। आखिर में वह लगातार जडेजा से बात करता रहा और हालात उसके नियंत्रण में थे।’ उन्होंने कहा,‘हार्दिक की जगह धोनी को ऊपर भेजना चाहिये था । कार्तिक को पांचवें नंबर पर भेजना समझ से परे था।’
धोनी में अभी काफी क्रिकेट बाकी : बोर्ड
नयी दिल्ली : बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना और सीओए सदस्य डायना इडुल्जी ने भारत के विश्वकप में प्रदर्शन की प्रशंसा की जो सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हारकर बाहर हो गया। इडुल्जी ने कहा, ‘टीम अच्छा खेली। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि मैच दूसरे दिन तक खिंच गया। शुरू में गंवाये 3 विकेटों ने टीम को पूरी तरह से बैकफुट पर ला दिया। इसके बाद जडेजा और धोनी ने अच्छी वापसी करायी। यह बहुत करीब का मामला बन गया था। जडेजा और धोनी ने जैसा प्रदर्शन किया, वह काबिलेतारीफ रहा।’ भारत की हार से धोनी के संन्यास को लेकर चल रही अटकलें भी बढ़ गयी लेकिन इडुल्जी ने कहा कि विश्वकप विजेता कप्तान ने टूर्नामेंट में दिखा दिया कि उसमें अब भी काफी क्रिकेट बचा है। इडुल्जी ने कहा, ‘यह (संन्यास लेने का) उसका व्यक्तिगत फैसला होगा। केवल वही यह निर्णय ले सकता है और उसका शरीर ही उसे बता सकता है। मुझे अब भी लगता है कि उसमें अभी काफी क्रिकेट बचा है। टीम में युवाओं को अब भी उसके मार्गदर्शन की जरूरत है।’


Comments Off on धोनी को 7वें नंबर पर उतारना भारी चूक
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.