किश्तवाड़ में वाहन खाई में गिरा, 4 की मौत !    जंगल की आग में झुलसे 13 दमकलकर्मी !    काबुल में कार बम विस्फोट, 7 की मौत !    केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री के वाहन पर पथराव !    न्यूजीलैंड में इच्छामृत्यु बिल पास, अब रायशुमारी !    निमोनिया से भारत में हर घंटे हुई 14 से अधिक बच्चों की मौत !    नीता अंबानी दुनिया के सबसे बड़े कला संग्रहालय बोर्ड में शामिल !    अयोग्यता रहेगी बरकरार लेकिन लड़ सकेंगे चुनाव !    हांगकांग में लगातार तीसरे दिन अराजकता का माहौल !    हिमाचल में 15 को भारी बारिश और बर्फबारी का अलर्ट !    

जलियांवाला बाग स्मारक ट्रस्ट से कांग्रेस अध्यक्ष को हटाना गलत : अमरेंद्र

Posted On July - 11 - 2019

चंडीगढ़, 10 जुलाई (एजेंसी)
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह ने जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक चलाने वाले ट्रस्ट में स्थायी सदस्य से कांग्रेस अध्यक्ष को हटाए जाने के प्रस्ताव वाले विधेयक पर एतराज जताया है। संस्कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह ने सोमवार को लोकसभा में विधेयक को पेश किया। इसमें ट्रस्टी के तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष के संदर्भ को ‘खत्म’ करने की मांग की गयी है।
इस कदम का मकसद जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक को गैरराजनीतिक बनाना है। इसी तरह का विधेयक पिछली सरकार भी लायी थी लेकिन इसे मंजूरी नहीं मिली और यह निष्प्रभावी हो गया।
अमरेंद्र ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘ट्रस्ट से कांग्रेस पार्टी (अध्यक्ष) को हटाना पूरी तरह गलत है। कांग्रेस जलियांवाला बाग (स्मारक) से स्थापना के दिन से जुड़ी रही है।’
ट्रस्ट के अध्यक्ष के रूप में प्रधानमंत्री और कांग्रेस के अध्यक्ष, संस्कृति मंत्री, लोकसभा में विपक्ष के
नेता, पंजाब के राज्यपाल और पंजाब के मुख्यमंत्री सदस्य हैं।
कर्नल रेजिनाल्ड डायर के नेतृत्व में ब्रिटिश भारतीय सेना ने 13 अप्रैल, 1919 को निहत्थे लोगों का जनसंहार किया था। उसी घटना की याद में केंद्र सरकार ने 1951 में इस स्मारक की स्थापना की थी। राज्य के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के अब तक बिजली विभाग का प्रभार नहीं संभालने से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

एसएफजे पर प्रतिबंध का किया स्वागत
मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह ने खालिस्तान समर्थक समूह ‘सिख फॉर जस्टिस’ (एसएफजे) पर प्रतिबंध लगाये जाने संबंधी केन्द्र सरकार के निर्णय का बुधवार को स्वागत किया और कहा कि इसे ‘आतंकवादी संगठन’ के रूप में देखा जाना चाहिए। सिंह ने इस फैसले को आईएसआई समर्थित संगठन के ‘भारत-विरोधी या अलगाववादी ताकतों’ से देश की रक्षा करने की तरफ पहला कदम बताया। अधिकारियों ने बताया कि एसएफजे की कथित राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के कारण सरकार ने इस समूह पर बुधवार को प्रतिबंध लगा दिया। अमेरिका स्थित एसएफजे अपने अलगाववादी एजेंडे के तहत सिख जनमत संग्रह 2020 पर जोर देता है।


Comments Off on जलियांवाला बाग स्मारक ट्रस्ट से कांग्रेस अध्यक्ष को हटाना गलत : अमरेंद्र
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.