गौमांस तस्करी के शक में 2 लोगों को पीटा !    चौपाल निर्माण में घटिया सामग्री लगाने का आरोप !    नकदी नहीं मिली तो बंदूक ले गये चोर !    पीजीआई में कोरोनरी एंजियोप्लास्टी का लाइव ट्रांसमिशन !    गंगा स्नान कर लौट रहे युवक की चाकू मारकर हत्या !    यमुना प्रदूषण के मामले में 5 विभागों को नोटिस !    लिव-इन से जुड़वां बच्चों को जन्म देकर मां चल बसी !    हर्बल नेचर पार्क में लगी आग, 5 एकड़ क्षेत्र जला !    ड्रेन की आधी अधूरी सफाई से किसानों में रोष !    राहगीरों की राह में रोड़ा 3 एकड़ जमीन का टुकड़ा !    

सिल्वर स्क्रीन

Posted On June - 8 - 2019

फिर काॅमेडी करेंगे अरशद
अभिनेता अरशद वारसी की नई फिल्म ‘पागलपंती’ की शूटिंग जल्द पूरी हो जाएगी। इस फिल्म में उनका मजेदार रोल है। यह एक ऐसा रोल है जो एक तरफ से दूसरी तरफ लुढ़कता रहता है। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान वह निर्देशक अनीस बज्मी के वर्किंग स्टाइल के कायल हो गए हैं। अरशद बताते हैं,‘यह रोमांटिक काॅमेडी फिल्म है, जिसमें अंधविश्वास का तड़का डाला गया है। अनीस की फिल्मों की खासियत यह है कि वह बहुत हल्के-फुल्के ढंग से एक मज़ेदार बात कह जाते हैं जो किसी को चुभती नहीं है। अभी जैसे कि फिल्म में मेरे किरदार जंकी को ही ले लीजिए उसकी हरकतें कई मज़ेदार सवाल क्रिएट करती है और इसका सारा क्रेडिट अनीस को ही जाता है। वह काॅमेडी की एक परफेक्ट सोच के साथ आगे बढ़ते हैं। इस वजह से ही उनकी फिल्में स्टार्ट टु फिनिश अंदाज में कब पूरी हो जाती है, किसी को पता भी नहीं चलता है। अब जैसे कि ‘पागलपंती’ की शूटिंग उन्होंने इसी फरवरी के अंत में शुरू की थी। अब दो शूटिंग शेड्यूल्ड में इसे पूरी कर वह इसे नवंबर के शुरू तक रिलीज़ कर देना चाहते हैं।’
देखा जाए तो बेहद उम्दा अभिनेता और अत्यंत कुशल डांसर अरशद को हल्की-फुल्की काॅमेडी फिल्में खूब रास आती हैं। उनकी पिछली ‘सुपर हिट टोटल धमाल’ की यादें अभी तक धूमिल नहीं पड़ी हैं। वह कहते हैं, ‘ऐसी फिल्में मुझे भी बहुत पसंद हैं। हलचल, गोलमाल, धमाल फ्रेचाइंची, मुन्नाभाई सीरीज की फिल्मों के अलावा एक दर्जन ऐसी फिल्में करके न सिर्फ मुझे बहुत मज़ा आया बल्कि इन फिल्मों ने मुझे बहुत तारीफ भी दिलाई। इसलिए ऐसी फिल्मों में काम करने के लिए बेताब रहता हूं लेकिन रोल भी तो होना चाहिए। मैंने सिर्फ बड़े प्रोजेक्ट के नाम पर कभी ऐसी फिल्में नहीं की।’ उनकी एक खासियत है कि वह नए निर्देशकों के साथ आसानी से अपना तालमेल बिठा लेते हैं। अब यह दीगर बात है कि नए निर्देशकों के साथ बनी उनकी ज्यादातर द लीजेंड आॅफ माइकल मिश्रा, गुड्डु रंगीला, वेलकम टु कराची, फ्राॅड सैंया को अब वह खुद भी याद नहीं करना चाहते हैं। इन दिनों भी वह एक युवा लेखक-निर्देशक पर सम्मोहित हैं। अभी वह अपनी इस फिल्म के बारे में कुछ भी विस्तार से बताने से इंकार करते हैं।
फिल्में करना डिंपल का शौक
61 की इस उम्र में भी डिंपल कपाड़िया ब्रह्मास्त्र, टेनेंट, दबंग-3 जैसी फिल्में कर रही हैं। एक्टिंग डिंपल के लिए हमेशा एक शौक की तरह रही है। यही वजह है कि अपनी हर फिल्म में वह अपनी सार्थक मौजूदगी से दर्शकों का दिल जीत लेती हैं। दबंग-3 में उनका आना लाजि़मी है। चूंकि दबंग में वह थीं और दबंग-3 इस फ्रेचाइंची का प्रीक्वल है, इसलिए उनके रोल को नज़रअंदाज़ करना मुश्किल है। वैसे दबंग की तरह दबंग-3 में भी उनका रोल कुछ ज्यादा बड़ा नहीं होगा। बेहद उम्दा अभिनेत्री डिंपल के लिए ये बातें ज्यादा मायने नहीं रखती हैं। वह जल्द ही इस फिल्म की शूटिंग शुरू करेंगी। वह बताती हैं, ‘अब रोल को लेकर ज्यादा माथा-पच्ची नहीं करती हूं। अब यह अलग बात है कि नए निर्देशक भी मेरे पास कुछ अच्छा लेकर आते हैं। अब जैसे कि दबंग में मेरा मां का रोल कुछ ज्यादा अहम नहीं था लेकिन मैंने किया। चूंकि यह फिल्म का एक छोटा-सा हिस्सा था, इसलिए मुझे फिर याद किया जा रहा है। अभी तक मैंने इस फिल्म की शूटिंग शुरू नहीं की है। इसी तरह ब्रह्मास्त्र के अपने रोल के बारे में कह सकती हूं। इसकी काफी शूटिंग मैंने की है। इसके यंग डायरेक्टर अयान मुखर्जी काफी उत्साह से भरे नज़र आते हैं। मुझे ऐसे डायरेक्टरों के साथ काम करने में बहुत मज़ा आता है।’ कुछ वर्षों पहले अपने एक इंटरव्यू में डिंपल ने कहा था कि उन्हें आने वाली घटनाओं का पूर्वाभास हो जाता है। वह कहती हैं, ‘राज अंकल की फिल्म ‘बाॅबी’ में मैं काम करूंगी और कम उम्र में अपने से कई साल बड़े राजेश खन्ना से मेरी शादी हो जायेगी, यह सब कुछ मैंने बहुत पहले अपने जेहन में देख लिया था।’ डिंपल ने मृणाल सेन की ‘अंतरीन’, कल्पना लाजिमी की ‘रुदाली’, गुलजार की ‘लेकिन’ जैसी ऑफबीट फिल्मों के अलावा उन्होंने कई मसाला फिल्मों में भी जमकर काम किया है। वह कहती हैं, ‘न चाहते हुए भी मैंने इन वर्षों में हिन्दी के अलावा कुछ क्षेत्रीय फिल्मों को मिलाकर कुल 70-80 के लगभग फिल्मों में काम कर लिया है। असल में एक्टिंग मेरे लिए सिर्फ आत्मसंतुष्टि का एक ज़रिया रहा है।’ वैसे कई आलोचक शादी को उनके करिअर की एक बड़ी बाधा मानते थे। इसमें कोई संदेह नहीं है कि जल्द शादी कर लेने की वजह से उनका फिल्म करिअर ‘बाॅबी’ जैसी धमाकेदार फिल्म के बाद भी अच्छी शेप नहीं ले पाया। वह उन पुरानी बातों को अब ज्यादा नहीं कुरेदना चाहती हैं। वह कबूल करती है कि शादी के सात दिन बाद ही उन्हें इस बात का एहसास हो गया था कि उनसे एक बड़ी भूल हो गयी है। वह कहती हैं, ‘निजी जीवन में काका पत्नी को लेकर बहुत असुरक्षित महसूस करते थे। इसलिए मेरी पढ़ाई-लिखाई, एक्टिंग आदि सब कुछ बंद हो गया। एक के बाद एक अच्छी फिल्मों का आॅफर वापस करते हुए काफी हताश हो चली थी। इस बीच, दो बेटियों टि्वंकल और रिंकी की मां बन गयी। मैंने बेटियों को लेकर विवाहित जीवन जीना चाहा था। लेकिन जल्द ही हम दोनों में अलगाव हो गया।
‘आर्टिकल-15’ से उत्साहित सयानी
सयानी गुप्ता अपनी फिल्म ‘आर्टिकल-15’ को लेकर उत्साहित हैं। आयुष्मान खुराना के साथ आर्टिकल-15 में उनके रोल की तारीफ़ शुरू हो चुकी है। सयानी बताती हैं, ‘जातिवाद पर केंद्रित यह फिल्म रिलीज़ से पहले ही खूब चर्चा में आ चुकी है। निर्देशक अनुभव सिन्हा की यह फिल्म संविधान की धारा 15 पर बेस्ड है जो धर्म, जाति को लेकर कई नियम तय करती है। देखा जाए तो हमारे धर्म और जाति में कई भेद हैं, जिन पर चर्चा करके मैं कोई विवाद खड़ा नहीं करना चाहती हूं। लेकिन जहां तक फिल्म का सवाल है, इसमें कई अहम मुद्दों को दिलचस्प ढंग से पेश गया है। जल्द ही इसे लंदन में आयोजित होने वाले इंडियन फिल्मोत्सव के ओपनिंग फिल्म के तौर पर पेश किया जाएगा। इसके साथ ही वह देश में भी रिलीज़ होगी।’
सयानी के मुताबिक जाॅली एलएलबी-2 के बाद पहली बार ऐसा हो रहा है जब आर्टिकल-15 में उन्हें बेहद अहम किरदार करने को मिल रहा है। वह मानती है कि ज्यादातर फिल्मों में या तो उन्हें छोटे-छोटे किरदार मिले या फिर उनके रोल पर खूब कैंची चली। जब हैरी मेट सेजल, फुकरे रिटर्न्स से तो उनका रोल लगभग उड़ा ही दिया गया था। लेकिन सयानी इन सब बातों को लेकर ज्यादा अफसोस नहीं करती है।
सयानी ने इन दिनों वेब सीरीज का दामन भी बहुत अच्छी तरह से थाम लिया है। इनसाइड एज, कौशिकी के बाद एमज़न प्राइम में उनकी वेब सीरीज़ फोर मोर शाॅट्स प्लीज की भी खूब तारीफ हो रही है। वे इसमें दामिनी रिजवी राय यानी ‘डी’ का लीड रोल कर रही हैं।
परिणीति की ‘जबरिया जोड़ी’
अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा के पास कई अच्छी फिल्में जमा हो गई हैं। संदीप और पिंकी फरार, साइना, ‘भुज-प्राइड आॅफ इंडिया’ इस साल ही रिलीज़ हो रही हैं। उनकी एक और फिल्म ‘ए गर्ल आॅन द ट्रेन’ की घोषणा जल्द होगी। यह फिल्म 2020 में रिलीज़ ही होगी। लेकिन उनकी एक बेहद अहम फिल्म ‘जबरिया जोड़ी’ इसी साल जुलाई में रिलीज होगी। परिणीति कहती हैं, ‘यह मेरे करिअर की सबसे अनोखी फिल्म है। यह फिल्म बिहार के दूल्हा अपहरण कांड पर बेस्ड है। इसका सब्जेक्ट कई मायने में बेहद प्रासंगिक है। वैसे तो मैंने कई अलग सब्जेक्ट वाली फिल्मों में काम किया है लेकिन इस फिल्म ने मुझे काफी टच किया है। इसके लेखक संजीव झा ने बिहार में होने वाली इस तरह की घटनाओं पर बड़ी तीखी नज़र रखी है।’ सिद्धार्थ मल्होत्रा इसमें अभय सिंह नामक एक बिहारी ठग की भूमिका कर रहे हैं। सिद्धार्थ भी अपने इस रोल को लेकर काफी रोमांचित हैं। इस रोल को लेकर परी का उत्साह खूब छलकता है। वह बताती हैं, ‘बिहार और कुछ और उत्तर के इलाकों में जिस तरह से लड़के को जबरिया अपहरण कर उसकी शादी किसी और लड़की से करवा दी जाती है। वह वाकई में एक बड़ी समस्या है। इसकी पृष्ठभूमि में दहेज की कुप्रथा है, लेकिन निर्देशक प्रशांत सिंह ने इसे बहुत हल्के-फुल्के ढंग से रोमांटिक काॅमेडी बनाने की कोशिश की है। मैं इसमें बबली यादव नामक एक लड़की का रोल कर रही हूं, जिसके लिए उसके पिता वर की तलाश कर रहे हैं। इसके बाद के घटनाक्रम के बारे में आप अंदाज़ लगा ही सकते हैं।’
यह फिल्म अपने सब्जेक्ट और बैनर की वजह से भी चर्चा में है। एकता कपूर का बैनर बालाजी फिल्म्स इसके निर्माण के साथ जुड़ा हुआ है। इसके चलते ही यह फिल्म अगस्त, 2018 में शुरू हुई थी और अप्रैल, 2019 में पूरी हो गई। सिद्धार्थ, परिणीति के अलावा इसका दूसरा साडड कास्ट बहुत मज़बूत है। संजय मिश्रा, जावेद जाफरी, अपरीक्षित खुराना, नीरज सूद, योगिता राठौर जैसे प्रतिभाशाली कलाकारों का अच्छा साथ इन्हें मिलेगा। परिणीति बताती हैं, ‘लखनऊ, रायबरेली, बाराबंकी में इसकी शूटिंग पूरी तरह से पिकनिक के माहौल में पूरी हुई है।’
करेक्टर आर्टिस्ट राजेश
हिंदी फिल्मों में इस करेक्टर आर्टिस्ट की सक्रियता लगातार बढ़ रही है। अभी हाल में वह अर्जुन कपूर की फिल्म इंडियाज़ मोस्ट वांटेड में दिखाई पड़े हैं। उम्दा अभिनेता राजेश ने बतौर करेक्टर आर्टिस्ट अपनी एक अलग धाक जमायी है। इन दिनों भी वह किस्सेबाज़ और मर्दानी-2 जैसी फिल्मों में काम कर रहे हैं। उनकी फिल्म किस्सेबाज़ जल्द रिलीज़ होगी। वह कहते हैं, ‘यह एक नए डायरेक्टर अनंत जट्टीपाल की फिल्म है। इसके टाइटल से ही आपको पता चल जाएगा कि यह एक बेहद हल्की-फुल्की फिल्म है। इसमें रोमांच का भरपूर तड़का है। इधर, दर्शक भी ऐसी फिल्मों को पसंद कर रहे हैं। एक अच्छी बात यह है कि इसमें मेरे अलावा पंकज त्रिपाठी, पंकज बेरी, अनुप्रिया गोयनका, मौली गागुली, जाकिर हुसैन सहित ज्यादातर एक्टर स्टेज़ के साथ जुड़े हुए हैं। मैं हमेशा की तरह इसमें भी एक अलग तरह का किरदार कर रहा हूं। सारे किरदार एक-दूसरे से लिंक-अप है। मुझे ऐसे करेक्टर करने में कोई परेशानी नहीं होती है। इसी वजह से मर्दानी के सीक्वल में मैंने तीन-चार सीन का रोल बड़े आराम से कर लिया।’ उन्होंने बंगला फिल्मों में अपनी अच्छी धाक जमा रखी हैं। अब तक वह तीन दर्जन से ज्यादा बंगला फिल्मों में काम कर चुके हैं। पर वह कोलकता और मुंबई के फिल्म इंडस्ट्री को बिल्कुल अलग नहीं मानते हैं।
ए. चक्रवर्ती


Comments Off on सिल्वर स्क्रीन
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.