बिहार में लू से अब तक 61 की मौत !    पंकज सांगवान की पार्थिव देह आज पहुंचने की उम्मीद !    टीचर का स्नेह भरा स्पर्श !    बाथरूम इस्तेमाल के तरीके !    मेरे पापा जी !    सुपरफूड सोया !    कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल !    काम का रैप ... !    पापा का प्यार !    कोने-कोने में टेक्नोलॉजी !    

भारी मन से युवी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

Posted On June - 11 - 2019

मुंबई में सोमवार को पत्नी हेजल और मां शबनम के साथ युवराज सिंह।

मुंबई, 10 जून (एजेंसी)
कैंसर पर विजय हासिल करने के 8 साल बाद भावुक युवराज सिंह ने सोमवार को उतार-चढ़ाव से भरे अपने करियर को अलविदा कहने की घोषणा की जिसमें उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि भारत की 2011 की विश्व कप जीत में अहम योगदान रहा। प्रतिभा के धनी इस करिश्माई खिलाड़ी को सीमित ओवरों के क्रिकेट का दिग्गज माना जाता रहा है लेकिन उन्होंने इस टीस के साथ संन्यास लिया कि वह टेस्ट मैचों में अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाये।
बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने हालांकि संन्यास लेने से पहले कई बार परिस्थितियों को अपने पक्ष में मोड़ने के प्रयास किये। 37 वर्षीय युवराज ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘मैंने 25 साल 22 गज की पिच के आसपास बिताने और लगभग 17 साल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के बाद आगे बढ़ने का फैसला किया है। क्रिकेट ने मुझे सब कुछ दिया और यही वजह है कि मैं आज यहां पर हूं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं बहुत भाग्यशाली रहा कि मैंने भारत की तरफ से 400 मैच खेले। जब मैंने खेलना शुरू किया था तब मैं इस बारे में सोच भी नहीं सकता था।’

मुंबई में सोमवार को प्रेस चर्चा के दौरान भावुक हुए युवराज िसंह। -प्रेट्र

फ्रीलांस खिलाड़ी के रूप में खेलेंगे : युवराज ने कहा कि वह अब ‘जीवन का लुत्फ’ उठाना चाहते हैं और बीसीसीआई से स्वीकृति मिलने पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न टी-20 लीग में फ्रीलांस खिलाड़ी के रूप में खेलना चाहते हैं।
ऐसा है रिकार्ड : युवराज ने भारत की तरफ से 40 टेस्ट, 304 वनडे और 58 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले। उन्होंने टेस्ट मैचों में 1900 और वनडे में 8701 रन बनाये। उन्हें वनडे में सबसे अधिक सफलता मिली। टी-20 अंतर्राष्ट्रीय में उनके नाम पर 1177 रन दर्ज हैं।
उन्होंने कहा, ‘यह इस खेल के साथ एक तरह से प्रेम और नफरत जैसा रिश्ता रहा। मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता कि वास्तव में यह मेरे लिये कितना मायने रखता है। इस खेल ने मुझे लड़ना सिखाया। मैंने जितनी सफलताएं अर्जित की उससे अधिक बार मुझे नाकामी मिली पर मैंने कभी हार नहीं मानी।’
आईपीएल भी नहीं खेलेंगे
युवराज सिंह ने इंडियन प्रीमियर लीग को भी अलविदा कह दिया। टी20 लीग में साल 2015 में सबसे महंगे खिलाड़ी युवराज पिछले सत्र में आधार मूल्य पर बिके। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास के बावजूद आईपीएल में खेलते रहने की परंपरा को तोड़ते हुए युवराज ने कहा कि पिछले साल ही उन्होंने तय कर लिया था कि वह इस प्रतियोगिता के साथ अपने करियर का अंत करेंगे। भावुक युवराज ने कहा, ‘पिछले साल ही मैंने सोचा कि इस साल का आईपीएल मेरा आखिरी होगा।’


Comments Off on भारी मन से युवी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.