केंद्र तमिलनाडु में हिंदी नहीं थोप रहा : सीतारमण !    तेज रफ्तार का कहर, 9 विद्यार्थियों की मौत !    बिहार-असम में बाढ़ का कहर, अब तक 144 की मौत !    बच्चों को सिखाएं पार्टी मैनर्स !    नर को नारायण से जोड़ते नारद !    लॉर्ड्स पर जीते क्रिकेट के गॉड !    शिवतुल्य जो बोलता है, वही जप है !    हरियाली अमावस पर पंच महायोग !    पेंसिल-कॉपी का आनंद !    स्वादिष्ट भी पौष्टिक भी !    

पुलिस पहरे में वाल्मीकि समाज ने की मंदिर में पूजा

Posted On June - 17 - 2019

रेवाड़ी के गांव नैनसुखपुरा में तनाव के चलते तैनात पीसीआर। -निस

रेवाड़ी, 16 जून (निस)
जाटूसाना क्षेत्र के गांव नैनसुखपुरा में कुछ प्रभावशाली लोगों का विरोध उस समय धरा का धरा रह गया जब भारी पुलिस के साए में वाल्मीकि समाज की महिलाओं ने मंदिर में पूजा अर्चना की। इसका कुछ लोगों ने विरोध भी किया, लेकिन प्रशासन के प्रबंधों के आगे उनकी एक न चली। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था और एंबुलेंस तथा अग्निशमन की गाड़ियां भी बुला रखी थी। किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद था। हालांकि पूजा–अर्चना के बाद विरोधियों ने भंडारा नहीं होने दिया और सारा प्रसाद ट्रैक्टर में भरकर गौशाला में पहुंचा दिया।
गौरतलब है कि पूजा-अर्चना को लेकर दो दिन पूर्व यह तय हुआ था कि वाल्मीकि परिवार भंडारे के लिए मात्र नगद राशि देगा, परंतु परिवार न तो सामान के हाथ लगाएगा और न ही इ मंदिर में चढ़ने दिया जाएगा। यह फैसला जाटूसाना थाने में डीएसपी अनिल की रहनुमाई में हुआ था, लेकिन मामले की नजाकत को देखते हुए प्रशासन सख्त हो गया। उसने अनहोनी से निपटने के लिए रविवार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी नियुक्त किया और साथ में एंबूलेंस तथा दमकल की गाड़ियां भी गांव में भिजवा दी।
यह है मामला : गांव के ही विजय पाल बेटी के स्वस्थ होने की मनोकामना पूर्ण होने पर गांव के मंदिर में भंडारा करना चाहता था, लेकिन गांव के कुछ लोग इसका विरोध कर रहे थे और मंदिर में नहीं घुसने देने की धमकी दे रहे थे।
भंडारे का सामान भेजा गौशाला
थाना जाटूसाना के एसएचओ राजकरण ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पूजा अर्चना के दौरान कुछ लोगों ने हंगामा कर दिया था। इसके बाद भंडारा का सामान गौशाला भेज दिया गया।


Comments Off on पुलिस पहरे में वाल्मीकि समाज ने की मंदिर में पूजा
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.