दोस्ती में समझदारी भी ज़रूरी !    सहयोगियों की कार्यक्षमता को समझें !    आज का एकलव्य !    सुडोकू से बढ़ाएं बच्चों की एकाग्रता !    विद्यालय जाने की खुशी !    तंग नज़रिये की फूहड़ता !    इनसान से एक कदम आगे टेक्नोलॉजी !    महिलाएं भी कर सकती हैं श्राद्ध! !    आध्यात्मिक यात्रा में सहायक मुद्राएं !    उपवास के लिए साबूदाना व्यंजन !    

पार्षद ने भेदभाव का आरोप लगाया तो चेयरपर्सन ने दिए बाहर निकालने के निर्देश, पार्षद बोलीं -डॉन्ट टच मी

Posted On June - 12 - 2019

कैथल में मंगलवार को जिला परिषद की बैठक से पार्षद अंजु जागलान को बाहर निकालने के निर्देश मिलने पर पहुंचीं महिला पुलिसकर्मियों को टोकती पार्षद। -हप्र

ललित शर्मा/हप्र
कैथल, 11 जून
जिला परिषद की 6 माह बाद मंगलवार को हुई बैठक में विकास कार्यों में पक्षपात का आरोप उछला वहीं चेयरपर्सन ने बैठक को कवर करने पहुंचे मीडियाकर्मियाें और एक महिला पार्षद को बाहर निकाल दिया। इसके बाद मीडिया कर्मियों ने भी रोषस्वरूप बैठक का बहिष्कार कर दिया। वहीं बैठक में 10 प्रस्तावों में से 9 को पारित कर दिया। चेयरपर्सन सुखविंदर कौर अांधली की अध्यक्षता में हुई बैठक में 2 पार्षदों को छोड़कर बाकी पार्षदों ने हिस्सा लिया।
मामला यहां से हुआ शुरू
बैठक में जिला परिषद के सीईओ व एडीसी आरके सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहे। इस दौरान अधिकारियों ने मीडिया कर्मियों व पार्षद अंजु जागलान के बैठक में मौजूद पति को बाहर जाने के लिए कहा। इस पर पार्षद अंजु जागलान ने आपत्ति दर्ज की। हंगामा इतना बढ़ा कि चेयरपर्सन ने पुलिस कर्मियों को अंदर बुला लिया। इस पर पार्षद अंजु जागलान, पार्षद भाग सिंह खनौदा व पार्षद सुरजीत सिंह ने कहा कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और उन्हें कैसे बाहर जाने को कहा जा सकता है। इस पर एक पुलिस कर्मी ने पार्षद अंजू जागलान को भी बाहर जाने को बोल दिया। आरोप है कि पुलिस कर्मी से पार्षद से धक्का-मुक्की भी हुई। हालात बेकाबू होते गए तो अंजू जागलान भड़क गई और पुलिस कर्मी से कहा- डॉन्ट टच मी। मैं 40 हजार लोगों का प्रतिनिधित्व करती हूं आप मुझे कैसे बाहर जाने के लिए कह सकते हो। इसके बाद मीडिया कर्मी भी बाहर आ गए।
पार्षद अंजू का आरोप एस्टीमेट के बावजूद नहीं दी जाती ग्रांट
वार्ड 2 से पार्षद अंजू जागलान ने पत्रकारों के समक्ष आरोप लगाया कि चेयरपर्सन व अधिकारियों ने जिला परिषद को बपौती बना लिया है। मनमर्जी से एजेंडे पास किए जाते हैं। वे जजपा की महिला प्रकोष्ठ की जिला अध्यक्ष हैं और विपक्ष से होने के नाते उनसे सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। इतने सालों मेें कोई भी ग्रांट जिला परिषद चेयरपर्सन ने उनके वार्ड नंबर 2 के लिए जारी नहीं की। हर बार कहा जाता है कि एस्टीमेट दे दें, फिर विकास कार्यों के लिए ग्रांट दी जाएगी, जबकि कई बार विकास कार्यों के एस्टीमेट दिए जा चुके हैं।
बैठक में पारित हुए एजेंडे
चेयरपर्सन ने बताया कि बैठक में 10 एजेंडे रखे गए, इनमें से 9 पास हुए हैं और एक विचाराधीन रखा गया है। इन पर 3 करोड़ 23 लाख राशि खर्च होंगे। इस दौरान वाइस चेयरमैन मुनीष कठवाड़, रती राम, कमलेश बलबेहड़ा, सुदेश बबली चंदाना, मंजू खरकड़ा, मुसिया पाडला, इंद्र पाई व अन्य पार्षद मौजूद रहे।
बैठक में पारित हुए एजेंडे
चेयरपर्सन ने बताया कि बैठक में 10 एजेंडे रखे गए, इनमें से 9 पास हुए हैं और एक विचाराधीन रखा गया है। इन पर 3 करोड़ 23 लाख राशि खर्च होंगे। इस दौरान वाइस चेयरमैन मुनीष कठवाड़, रती राम, कमलेश बलबेहड़ा, सुदेश बबली चंदाना, मंजू खरकड़ा, मुसिया पाडला, इंद्र पाई व अन्य पार्षद मौजूद रहे।
शिकायतकर्ता के वार्ड में दी है 16 लाख की ग्रांट
जिला चेयरपर्सन सुखविंदर कौर आंधली ने पार्षद अंजू जागलान के आरोप को सच्चाई व तथ्यों से परे बताया। उन्होंने दावा किया पार्षद अंजू जागलान के वार्ड में 16 लाख रुपये की ग्रांट दी जा चुकी है। केवल विकास कार्यों में बाधा बनना व पब्लिसिटी स्टंट के लिए हर बैठक में उनके द्वारा यह ड्रामा रचा जाता है। जिला परिषद सबका साथ-सबका विकास की नीति पर चल रही है और सभी वार्डों में समान रूप से विकास कार्यों के लिए राशि बांटी जा रही है।


Comments Off on पार्षद ने भेदभाव का आरोप लगाया तो चेयरपर्सन ने दिए बाहर निकालने के निर्देश, पार्षद बोलीं -डॉन्ट टच मी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.