लव मेरिज करने वाली युवती ने ससुराल में किया हंगामा! !    सेल्समैन को जिंदा जलाने के आरोपी काबू !    31 अध्यापकों को मिला उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान !    पत्नी की हत्या का आरोपी एसडीओ गिरफ्तार !    गूगल मैप ने बेटी को पिता से मिलाया !    छत से फिसलकर पूर्व क्रिकेटर के ससुर की मौत !    ‘खट्टर सरकार ने किया हरियाणा से भाईचारा खत्म’ !    हिमाचल में 24 की मौत 800 से ज्यादा सड़कें बंद !    जूनियर विश्व कुश्ती में भारत को 3 पदक !    बड़ी स्क्रीनों पर गंगा आरती !    

जम्मू में सैन्य और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान आईएसआई के निशाने पर !

Posted On June - 9 - 2019

सुरेश डुग्गर/हप्र
जम्मू, 8 जून
पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई का टारगेट जम्मू संभाग के सैनिक व महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान हैं। यह खुलासा पुलिस की ओर से 6-सदस्यीय जासूसी मॉड्यूल से पूछताछ से हुआ है। फिलहाल पकड़े गए 4 जासूसों से पूछताछ जारी है। इस मॉड्यूल की गिरफ्तारी का सिलसिला 11 दिन पहले जम्मू के बाहरी क्षेत्र रतनूचक में स्थित एक सैन्य प्रतिष्ठान की वीडियोग्राफी करते पकड़े गए मुश्ताक अहमद मलिक और नदीम अख्तर की पूछताछ से शुरू हुआ। दोनों से मिले सुरागों के आधार पर एजेंसियों ने सद्दाम हुसैन, सफदर अली, मुहम्मद सलीम और अब्दुल करीम को पकड़ा। इनमें सफदर अली ही जिला ऊधमपुर में खनेड़ का रहने वाला है, जबकि अन्य 3 जिला कठुआ के रहने वाले हैं। पूछताछ के दौरान इन्होंने बताया कि मुश्ताक अहमद मलिक का एक रिश्तेदार पहले जिला डोडा का नामी आतंकी था। बाद में वह उस कश्मीर चला गया था। उसने ही सबसे पहले इस मॉड्यूल को तैयार किया।
पकड़े गए ये सभी लोग जिला कठुआ, ऊधमपुर और डोडा में हिजबुल मुजाहिदीन का नेटवर्क तैयार करने में जुटे थे। इन्होंने खुद अभी किसी आतंकी वारदात को अंजाम नहीं दिया था। पूछताछ में इन्होंने बताया कि आईएसआई के कर्नल इफ्तिखार के साथ उनकी व्हाट्सएप और एक अन्य मोबाइल एप के जरिये बातचीत होती थी। कर्नल इफ्तिखार के साथ उनका संपर्क सीमा पार बैठे एक आतंकी ने कराया था। उसने ही हिज्ब कमांडर आमिर खान से भी इनका संपर्क कराया था।
कर्नल इफ्तिखार के निर्देशानुसार ही वह विभिन्न सैन्य प्रतिष्ठानों की वीडियोग्राफी कर उसे पहुंचाते थे। उन्होंने हाईवे और रेलवे स्टेशनों के अलावा कुछ और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की भी वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कर पाकिस्तान भेजी। पूछताछ कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि यह सिर्फ जासूसी का काम ही नहीं कर रहे थे बल्कि उधमपुर, डोडा और कठुआ में हिज्ब का नेटवर्क संभालने की तैयारी भी कर चुके थे।
इनके फोन से जो डाटा मिला है, उसके आधार पर कहा जा सकता है कि आईएसआई पठानकोट या नगरोटा सैन्य प्रतिष्ठान पर करीब 2 साल पहले हुए हमले जैसी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है।


Comments Off on जम्मू में सैन्य और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान आईएसआई के निशाने पर !
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.