जादू दिखाने हुगली में उतरा जादूगर डूबा !    प्राकृतिक स्वच्छता के लिए यज्ञ जरूरी : आचार्य देवव्रत !    मानवाधिकार आयोग का स्वास्थ्य मंत्रालय, बिहार सरकार को नोटिस !    बांग्लादेश ने विंडीज़ को 7 विकेट से रौंदा, साकिब का शतक !    कोर्ट ने नयी याचिकाओं पर केंद्र से मांगा जवाब !    पीजी मेडिकल सीट पर रुख स्पष्ट करे केंद्र !    नहीं दिखे कई दिग्गज नये चेहरे भी चमके !    हाफ मैराथन विजेता ज्योति डोप परीक्षण में फेल !    हांगकांग के प्रमुख कार्यकर्ता जोशुआ वोंग जेल से रिहा !    कम हुए परमाणु हथियार, धार तेज !    

आपकी राय

Posted On June - 14 - 2019

मनुष्यता शर्मसार
अलीगढ़ में मासूम बच्ची की निर्मम हत्या की खबर से देश आहत है। देश के विभिन्न हिस्सों से ऐसी खबरें मिलती रहती हैं, जिससे इनसानियत शर्मसार होती हैं। बाद में मामला शांत पड़ जाता है पर न मालूम न्याय मिलता भी है या नहीं? हद तो तब हो जाती है जब ऐसी घटनाओं पर राजनीति शुरू हो जाती है। कुछ लोग इसे साम्प्रदायिक रंग देने से भी नहीं चूकते। जब तक हम अपने अंदर बदलाव नहीं लाएंगे और एकजुट होकर अन्याय के विरुद्ध एकजुट नहीं होंगे, यह सिलसिला रुकने का नाम ही नहीं लेगा। शासन-प्रशासन को भी त्वरित कार्रवाई करते हुए दोषियों को सजा दिलाने में सक्रियता दिखानी चाहिए।

मंजर आलम, रामपुर डेहरू, मधेपुरा

समय से चेतें
8 जून के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘कमजोर विपक्ष’ हाल ही में संपन्न हुए संसदीय चुनाव में सत्ताधारी भाजपा तथा उसके सहयोगियों की धमाकेदार जीत तथा विपक्ष की करारी हार की स्थिति का विश्लेषण करने वाला था। एक स्वस्थ लोकतंत्र की सफलता न केवल योग्य सत्ता पक्ष पर निर्भर करती है बल्कि एक जागरूक विपक्ष पर भी निर्भर करती है। लेकिन दुर्भाग्यवश इस समय न केवल कांग्रेस बल्कि कुछ क्षेत्रीय दल भी कमजोर स्थिति में हैं। इन्हें अपनी वास्तविक भूमिका को पहचान कर नए सिरे से काम करना शुरू करना चाहिए।

श्यामलाल कौशल, रोहतक

व्यर्थ की योजनाएं
कुछ दिन पहले गृहमंत्री अमित शाह ने एक बैठक में साफ कर दिया है कि उनका कार्य केवल गृह मंत्रालय तक सीमित नहीं रहेगा। इस बैठक में रोजगार एवं कौशल विकास जैसी नीतियां बनाई गईं। आर्थिक तंगी आज देश की सबसे बड़ी समस्या है। इसको दूर करने के लिए सरकार को किसान कर्ज माफी जैसी घोषणाएं और व्यर्थ आरक्षण जैसी नीतियां तुरंत बंद करनी होंगी।

श्वेता, जालंधर


Comments Off on आपकी राय
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.