हुवावेई को 5जी नेटवर्क से अलग रखने के ब्रिटेन के फैसले से अमेरिका खुश! !    भारतीय-अमेरिकी दंपति 4 लाख डॉलर की धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार !    प्राइमरी जीतने वाली दूसरी भारतीय-अमेरिकी बनीं सारा गिडियन! !    देहरादून में मकान ढहा, एक बच्ची, गर्भवती महिला समेत 3 की मौत !    पायलट, 18 अन्य बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने की कार्यवाही शुरु, दिये गये नोटिस! !    सोना तस्करी मामला : केरल के आईएएस अधिकारी से 9 घंटे तक पूछताछ ! !    बैगन-आर और बलेनो के ईंधन पंप खराब, 1.35 लाख कारें वापस मंगाई !    कोरोना : देश में एक दिन में रिकार्ड 29,429 नये मामले! !    सीबीएसई ने घोषित किया 10वीं कक्षा का परिणाम, 91.46 विद्यार्थी पास! !    संयुक्त राष्ट्र के उच्च स्तरीय सत्र को संबोधित करेंगे मोदी !    

मेवात में भाजपा की झोली रही खाली

Posted On May - 25 - 2019

नवीन पांचाल/हप्र
गुरुग्राम, 24 मई
लोकसभा चुनाव परिणाम भले ही एकतरफा तौर पर भाजपा के पक्ष में गया है लेकिन इससे सभी सियासी दलों के नेताओं की पोल खोलकर रख दी है। भाजपा को इन चुनावों के बाद नूंह जिले में अपनी जमीन तलाशने के लिए संघर्ष करना है तो कांग्रेस, इनेलो, जजपा व बसपा को अपने वोट बैंक में सेंधमारी होने के कारण खोजने शुरू कर दिए हैं।
नूंह जिले की तीन विधानसभा सीटों फिरोजपुर झिरका, पुन्हाना व नूंह पर मतदाताओं ने एकतरफा कांग्रेस प्रत्याशी कैप्टन अजय यादव के पक्ष में वोट किए। कैप्टन को नूंह जिले से 1 लाख 88 हजार 526 मतों की बढ़त मिली। इस जिले की तीनों विधानसभा सीटों से राव इंद्रजीत को यहां से सिर्फ 83 हजार 39 मत ही मिल पाए। नूंह जिले की तीनों सीटें परंपरागत तौर पर इनेलो की मानी जाती हैं। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनावों में इनेलो के प्रत्याशी रहे जाकिर हुसैन को अकेले नूंह जिले से 2 लाख 42 हजार 876 वोट मिली थी। इस बार इनेलो प्रत्याशी विरेंद्र राणा को तीनों सीटों से सिर्फ 1325 ही वोट मिल पाए। जबकि जजपा-आप प्रत्याशी महमूद को 1166 वोट ही मिले। जाकिर हुसैन नूंह से इनेलो के विधायक भी हैं। नूंह से इनेलो प्रत्याशी विरेंद्र राणा के पक्ष में सिर्फ 893 लोगों ने वोट किया है।

गुड़गांव से कांग्रेस को नहीं जिता सके ‘टिकटार्थी’
गुड़गांव विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा रखने वाले नेताओं में पूर्व राज्यमंत्री सुखबीर कटारिया, सीनियर डिप्टी मेयर के पति गजे सिंह कबलाना, पूर्व जिलाध्यक्ष मदन लाल ग्रोवर के पुत्र मोहित ग्रोवर, पार्षद व पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर यशपाल बतरा, पार्षद सीमा पाहूजा समेत आधा दर्जन से अधिक हैं। इसमें से चार कैप्टन अजय के साथ जुड़े हुए हैं। इसके बावजूद कांग्रेस प्रत्याशी को गुड़गांव विधानसभा सीट से सिर्फ 39 हजार 520 वोट ही मिले। कुछ ऐसी ही स्थिति बादशाहपुर, पटौदी, रेवाड़ी व बावल विधानसभा क्षेत्र की भी रही। हालांकि सोहना में कांग्रेस प्रत्याशी ने भाजपा प्रत्याशी राव इंद्रजीत को बराबर की टक्कर दी।


Comments Off on मेवात में भाजपा की झोली रही खाली
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.