अंबाला में उड़ान भरते समय लड़ाकू जहाज का फ्यूल टैंक बाउंडरी वाल में फंसा, हडक़ंप  !    फरीदाबाद में जिम के बाहर कांग्रेस नेता को मारीं ताबड़तोड़ गोलियां, मौत !    जरनैल सिंह हत्याकांड में वांछित 2 और गिरफ्तार !    नगर निगम के जगाधरी जोन में 1.64 करोड़ के टेंडर जारी !    डाक कर्मचारी ने किया 16 लाख का गबन !    लारवा मिलने पर 11 को नोटिस !    बोरियों के नीचे जा छिपे 2 ठगों को लोगों ने दबोचा !    पीएमवाई के तहत नहीं मिली राशि, लोगों में रोष !    भाजपा ने किया प्रदेश को बर्बाद : तंवर !    दुष्कर्म का झूठा केस दर्ज कराने का डर दिखाकर रुपये ऐंठने वाली 2 महिलाएं, 2 युवक काबू !    

तिरछी नज़र

Posted On May - 15 - 2019

अरमानों-फरमानों का रोड शो
अरुण अर्णव खरे

चुनावों का मौसम है। रैलियां और रोड शो जारी हैं लेकिन मुरारी जी रोड शो के तरीके को लेकर बहुत गुस्सा हैं। भला ये भी कोई रोड शो है, जिसके लिए रोड शो किया जा रहा है वही स्टार प्रचारक के पीछे दुबका खड़ा है। हाथ हिलाकर अभिवादन करने से पहले बार-बार प्रचारक का मुंह देखता है, उनकी प्रतिक्रिया का आकलन करता है, फिर अपने उठे हाथ नीचे कर लेता है। उसकी प्रचारक के सामने वैल्यू ही कितनी है, डॉलर के सामने रुपैये जितनी ही न।
अपने रोड शो की यादों में मुरारी जी खोते हुए बता रहे हैं—कितनी आन-बान-शान थी उनके रोड शो में। सिर पर चमकदार पगड़ी, विशेष रूप से सिलवाई गई अचकन, जरी की कढ़ाई वाली जूतियां, कमर में तलवार और शानदार बग्घी। घर से महिलाओं ने तिलक लगाकर विदा किया था। नजर न लगे, इसलिए बालों के नीचे माथे के दाहिनी ओर काजल का टीका लगाया गया था। बग्घी में केवल वह ही विराजमान थे। साथ में थे बहिन के दो छोटे बच्चे। फूफानुमा स्टार प्रचारक से कोसों दूर। न आचार संहिता का लफड़ा, न रोड शो के रूट की फिक्र और न समय की सीमा। तब डीजे चलन में नहीं था। बैंडवाले ही रूट और समय निर्धारित करते थे। नागिन डांस पर रुपए लुटाने पर कोई पाबन्दी नहीं।
मुरारी जी का कहना है कि उनका रोड शो तो मुख्य सड़क को छोड़कर कस्बे की हर गली से होकर गुजरा था। घरों की बालकनी में खड़ी बड़ी बूढ़ी उनको देखकर खुसुर-पुसुर कर रही थी—बहुतई नोनो लग रहो है दूल्हा तो। उनकी शादी में तो तीन-तीन फूफा थे लेकिन मजाल क्या कि किसी ने दूल्हे की शान कम करने की कोशिश की हो। छोटे चाचा की व्यवस्था भी पूरी चाक-चौबन्द थी। रॉयल चैलेंज के पचास-पचास एम.एल. के दो-दो पैग नीचे उतरवा कर उन्होंने तीनों फूफा से ‘ये देश है वीर जवानों का’ गीत पर लुंगी डांस करवा दिया था।
अपने रोड शो की सफलता से मुग्ध मुरारी जी ने आगे कहा- कोई सुरक्षा व्यवस्था भी नहीं थी हमारे रोड शो में लेकिन सारे बाराती गजब के स्व-अनुशासन में चल रहे थे। चुनावी रोड शो में देखा आपने। सुरक्षा के इतने तामझाम के बीच भी लोग-बाग जीप पर चढ़कर स्टार महोदय को थप्पड़ लगा जाते हैं। हमारे रोड शो में तो कितने ही लोगों ने तिलक किया था और गजब का स्वागत सत्कार हुआ था सभी का। चुनावी रोड शो के परिणाम के लिए महीनों इन्तजार करना पड़ता है जबकि हमने शाम को रोड शो किया और सुबह दुल्हन को लेकर घर रवाना हो गए।
हमारे और इस रोड शो की कोई तुलना नहीं है। शायद इसीलिए दूल्हा स्वयं ही इस रोड शो में पीछे रहना पसन्द करता है। क्या मालूम कोई स्टार जी से खुंदक निकालने आए और उनकी मुड़थपड़ी कर चला जाए।


Comments Off on तिरछी नज़र
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.