जमींदोज किये 7 बंगले !    राज्य महिला आयोग में पेश नहीं हुए दिग्विजय चौटाला, मांगी 15 दिन की मोहलत !    ओवर-थ्रो पर 6 रन देना था गलत, आईसीसी चुप !    सुनवाई पूरी करने के लिये विशेष जज ने कोर्ट से मांगे 6 महीने !    कलराज मिश्र हिमाचल, आचार्य देवव्रत होंगे गुजरात के राज्यपाल !    विश्वविद्यालय कर्मचारी ने लगाया फंदा !    बिहार और असम में बाढ़ की मार !    राजीव सक्सेना की जमानत रद्द कराना चाहता है ईडी !    डेमोक्रेट ‘महिला' सांसदों पर ट्रंप की टिप्पणी की निंदा !    आस्ट्रेलिया में लापता भारतीय छात्र का शव मिला !    

टेस्ट मैचों में भी ‘फ्री हिट’ की सिफारिश

Posted On March - 14 - 2019

लंदन, 13 मार्च (एजेंसी)
एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति ने लंबे प्रारूप को दिलचस्प बनाने के लिये कुछ प्रस्ताव दिये हैं जिसमें समय बरबाद होने से रोकने के लिये ‘शाट क्लॉक’ लगाया जाना, शुरूआती विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के लिये मानक गेंद का इस्तेमाल और नो-बॉल के लिये फ्री हिट जैसी सिफारिशें शामिल हैं।
इंगलैंड के पूर्व कप्तान माइक गैटिंग की अध्यक्षता वाली समिति ने पिछले हफ्ते बंगलुरू में हुई बैठक में टेस्ट क्रिकेट के लिये कुछ बदलावों का सुझाव दिया है। इस समिति में पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली भी शामिल हैं। इन प्रस्तावों को मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने मंगलवार की रात यहां अपनी वेबसाइट पर लगाया है।
5 दिवसीय प्रारूप में धीमी ओवर गति नियमित प्रक्रिया है जिससे प्रशंसक खेल से थोड़ा दूर हो रहे हैं इसलिये एमसीसी समिति ने ‘शाट क्लॉक’ आरंभ करने की जरूरत व्यक्त की।
एमसीसी ने कहा, ‘जब इंगलैंड, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के प्रशंसकों से टेस्ट क्रिकेट में दर्शकों की कम हिस्सेदारी के मुख्य कारकों को पूछा गया तो 25 प्रतिशत प्रशंसकों ने धीमी ओवर गति का जिक्र किया।” उन्होंने कहा, ‘इन देशों में स्पिनर बहुत कम ओवर फेंकते हैं, एक दिन में पूरे 90 ओवर कभी कभार नहीं फेंके जाते, यहां तक कि अतिरिक्त 30 मिनट भी ले लिये जाते हैं।’ एमसीसी ने कहा, ‘वहीं डीआरएस भी देरी के लिये थोड़ा जिम्मेदार है, समिति को लगता है कि खेल की रफ्तार को बढ़ाने के लिये कुछ कदम उठाये जाने चाहिए।’


Comments Off on टेस्ट मैचों में भी ‘फ्री हिट’ की सिफारिश
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.