5 मिनट में फिट !    बीमारियां भी लाता है मानसून !    तापसी की 'सस्ती पब्लिसिटी' !    सिल्वर स्क्रीन !    फ्लैशबैक !    सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार !    खबर है !    हेलो हाॅलीवुड !    हरप्रीत सिद्धू फिर एसटीएफ प्रमुख नियुक्त !    करोड़ों रुपये में बदलेगी ट्विनसिटी की सूरत !    

काले धन पर अंकुश के लिए आयकर की 80 टीमों का गठन

Posted On March - 14 - 2019

आदित्य शर्मा/नस
चंडीगढ़/पंचकूला, 13 मार्च
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता लगते ही आयकर विभाग ने चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों की सख्ती से पालना शुरू कर दी है। चुनाव में काले धन के इस्तेमाल पर पूर्ण अंकुश लगाने के लिए आयकर विभाग ने यूटी चंडीगढ़ के साथ 4 अन्य राज्यों को अलर्ट किया है। निर्वाचन आयोग राज्यों में काले धन की गतिविधियों पर नजर रखे हुए है। आयकर विभाग ने कालेधन पर अंकुश लगाने के लिए नए सिरे से 80 से ज्यादा टीमों का गठन कर दिया है।
सूत्रों की माने तो साल 2014 के मुकाबले साल 2019 के चुनाव के मद्देनजर यूटी के अलावा पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर राज्यों में कई इलाके संवेदनशील हो चुके हैं जहां कड़ी नजर रखना आवश्यक है। इस वजह से निर्वाचन आयोग के आदेशों पर दोगुने प्रबंध किए जा रहे हैं। इन इलाकों में 24 घंटे हवाला के जरिए काले धन की घुसपैठ को रोकने के लिए सर्विलांस को स्ट्रांग किया गया है। आयोग के निर्देशों पर मोबाइल ऐप लांच की गई है जिसके माध्यम से लोग काले धन के बारे में शिकायत दे सकते हैं। चंडीगढ़ स्थित क्षेत्रीय आयकर विभाग के अाधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आयकर अधिकारी-कर्मचारियों की स्पेशल टीमें बनाई गई हैं। क्षेत्रीय आयकर मुख्यालय पर एक मुख्य कंट्रोल रूम बनाया है। क्षेत्रीय आयकर मुख्यालय पर बनाए गए कंट्रोल रूम की कमान आयकर अपर निदेशक (इन्वेस्टिगेशन) पीएस पूनिया को सौंपी गई है। प्रदेश भर की आयकर विभाग की टीमें और मुख्यालय का कंट्रोल रूम, जल, थल के साथ-साथ आसमानी सफर से आने वाले कालेधन पर पैनी नजर रख रही है। विभाग ने कंट्रोल रूम नंबर भी जारी कर दिए हैं।
आयकर विभाग ने ऐसे बनाया सुरक्षा घेरा
चंडीगढ़ के संयुक्त आयुक्त राजेश महाजन ने बताया कि विभाग ने लोस चुनाव में यूटी समेत अन्य राज्यों में कुल 400 आईटीओ स्तर के अधिकारी तैनात किए हैं। नोडल अफसर को तीन से चार जिलों की निगरानी के काम सौंपे गए हैं। जिनका संपर्क सीधा हैड क्वॉर्टर से होगा। चंडीगढ़ में 3, हिमाचल प्रदेश में 12, पंजाब में 24, जम्मू-कश्मीर में 16 और हरियाणा में 29 नोडल अफसर हर जिले के मुताबिक तैनात होंगे। पुलिस स्टेशन, एसएसटी और जिला चुनाव अधिकारी की देखरेख में क्विक रियेक्शन टीम काले धन की सूचना आते ही कार्रवाई करेगी। चुनाव से पूर्व सभी प्रबंधों को कड़ा करते हुए टीम के रूप में काम करेंगे। 10 लाख रुपये के कालेधन की जांच निर्वाचन आयोग द्वारा की जाएगी जबकि जबकि इससे नीचे की राशि जब्त होने पर जांच का जिम्मा जिला नोडल अफसर को सौंपा जाएगा।

“निर्वाचन आयोग की लोगों के लिए यह राय है कि वे 50 हजार रुपये के साथ अपने पहचान पत्र (आईडी प्रूफ) साथ रखें। अपने साथ एयरपोर्ट या कालेधन को लेकर स्थानीय एजेंटों, मनी एक्चेंज करने वालों के साथसाथ अन्य एजेंटों के बारे में भी अधिकारी जानकारी ले रहे हैं।
-राजेश महाजन, संयुक्त आयुक्त
चंडीगढ़ आयकर विभाग


Comments Off on काले धन पर अंकुश के लिए आयकर की 80 टीमों का गठन
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.