4 करोड़ की लागत से 16 जगह लगेंगे सीसीटीवी कैमरे !    इमीग्रेशन कंपनी में मिला महिला संचालक का शव !    हरियाणा में आर्गेनिक खेती की तैयारी, किसानों को देंगे प्रशिक्षण !    हरियाणा पुलिस में जल्द होगी जवानों की भर्ती : विज !    ट्रैवल एजेंट को 2 साल की कैद !    मनाली में होमगार्ड जवान पर कातिलाना हमला !    अंतरराज्यीय चोर गिरोह का सदस्य काबू !    एक दोषी की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई 17 को !    रूस के एकमात्र विमानवाहक पोत में आग !    पूर्वोत्तर के हिंसक प्रदर्शनों पर लोकसभा में हंगामा !    

बाबा के चेले

Posted On July - 26 - 2018

सिरसा वाले तथाकथित बाबा के चेले बेशक अभी शांत हैं, लेकिन सतलोक आश्रम वाले तथाकथित संत रामपाल के अनुयायी पूरी तरह से मुखर हो चले हैं। ये हाथ धोकर सरकार और ‘खट्टर काका’ के पीछे पड़े हैं। सोशल मीडिया पर जब कभी भी काका का सोशल मीडिया हेंडल करने वाली टीम कुछ अपलोड करती है तो बाबा के ये चेले आक्रामक नज़र आते हैं। मंगलवार को जीरकपुर में एक चैनल के कार्यक्रम के दौरान काका की स्पीच को लाइव किया गया। भाजपा समर्थकों के तो कुछ कमेंट्स ही आए, लेकिन रामपाल अनुयायियों की टिप्पणी से साइट भरी दिखी। इन्होंने खुफिया विभाग वाले साहब को भी नहीं बख्शा। साढ़े 6 हजार से अधिक पोस्ट में अधिकांश इनकी ही थी। वैसे कबीर जयंती के मौके पर रोहतक में भीड़ जुटाकर रामपाल समर्थक अपने इरादे जाहिर कर चुके हैं।

कांग्रेस के लिए अच्छा
kha copyपिछले दिनों दिल्ली के एक समारोह में कांग्रेस के 2 युवा चेहरों का मिलन हुआ। कांग्रेस के युवराज के करीबी साइकिल वाले प्रधानजी इस कार्यक्रम में कुछ देर से पहुंचे थे। वे अंदर आ रहे थे और रोहतक वाले सांसद यानी दीपू भाई वापस जा रहे थे। अब जब आमना-सामना हो गया तो अनौपचारिक बात भी होनी ही थी। दीपू ने प्रधानजी की किलोई हलके में निकाली गई साइकिल यात्रा पर टिप्पणी करते हुए कहा कि आप तो हमारे गांव भी हो आए। प्रधानजी बोले कि आप भी तो हमारे एरिया में घूम रहे हैं। फिर दोनों के ही मुंह से निकला, चलो अच्छा है, इससे कांग्रेस तो मजबूत हो ही रही है।

पंडितजी और राव साहब
महेंद्रगढ़ वाले बड़े पंडितजी और रामपुरा हाउस वाले राव साहब महेंद्रगढ़ की बाजरा रैली में भले ही इकट्ठे न हुए हों, लेकिन एक शादी के दौरान दोनों साथ बैठे नज़र आए। पंडितजी ने तो राव साहब को उलाहना भी दे दिया कि आप रैली में नहीं आए। राव ने कहा कि मेरे यहां तो गृहमंत्री राजनाथ सिंह आए हुए थे। तभी सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी पहुंच गए। पंडितजी ने तुरंत सवाल किया, दीपू अब आपकी कमर का हाल कैसा है। फिर इंद्रजीत से गपशप शुरू हुई। मीडिया के साथियों ने पूछा तो दीपू ने कहा, राव साहब के साथ पापा (भूपेंद्र हुड्डा) के अलग रिश्ते हैं और मेरे अलग। इतना सुनना था कि राव साहब ने जोर से दीपू का हाथ दबा दिया।

काका के इशारे
‘मनोहर काका’ इशारों-इशारों में सियासी निशाने साधने के माहिर हो गए हैं। अब अनुभव भी कोई चीज है। वैसे भी सत्ता के शीर्ष पर बैठे 4 साल होने जा रहे हैं। पिछले दिनों दिल्ली के एक शादी समारोह में कुमारी शैैलजा और काका के बीच कुछ पल बात हुई। काका ने हालचाल पूछा और राजनीतिक गतिविधियों पर सवाल किया तो शैलजा ने कहा, मैं तो आज आपके शहर (करनाल) से ही आ रही हूं। काका ने भी महेंद्रगढ़ की बाजरा रैली का जिक्र कर डाला। फिर पूछने लगे और लोकसभा में क्या चल रहा है। इससे पहले कि शैलजा कुछ जवाब देती, काका बोल पड़े वहां भी पूरी गरमी चल रही है। अब समझने वालों को इशारा ही काफी होता है। काका ने बातों-बातों में राहुल गांधी के लोकसभा में किए गए ‘सेल्फ गोल’ की ओर इशारा कर दिया।

तैराक प्रधानजी
भाजपा वाले प्रधानजी सुभाष बराला अच्छे तैराक निकले। राजनीति के समुद्र में तो पता नहीं प्रधानजी कहां तक तैर पाएंगे, लेकिन अपने हलके टोहाना की एक नहर में उन्होंने तैराकी के जलवे दिखाए। पीएम मोदी के फिटनेस नारे को आगे बढ़ाते हुए प्रधानजी ने ट्विटर पर तैराकी का वीडियो अपलोड कर दिया। कुछ ने तो उन्हें कोहिनूर कह डाला।  तथाकथित संत रामपाल के समर्थकों ने उन्हें लपेट लिया। कुछ ने तो एक जेल अधीक्षक को भी आड़े हाथों ले लिया। व्हाट्सएप ग्रुप पर भी प्रधानजी का वीडियो चर्चाओं में रहा। तैरते रहो प्रधानजी!

कांग्रेस की नारी शक्ति
ram copyहरियाणा में महिला कांग्रेस की सक्रियता भी काफी चर्चा में है। लगातार दूसरी बार प्रदेशाध्यक्ष की पारी खेल रही सुमित्रा चौहान हर छोटे-बड़े मुद्दे पर सक्रिय नजर आती हैं। महिला कांग्रेस के मंच पर कुमारी शैलजा से लेकर रणदीप सुरजेवाला ही नहीं, अशोक तंवर भी नज़र आते हैं। तंवर की प्रधानगी को खुला समर्थन कर चुकी महिला कांग्रेस अब अपनी शक्ति दिखाने में जुटी है। यह ताकत इसलिए भी दिखाई जा रही है कि विधानसभा चुनाव में महिलाओं का कोटा बढ़ावाया जा सके। पिछले दिनों चंडीगढ़ में
महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव की प्रेस कांफ्रेंस के दौरान का नज़ारा सुर्खियों में रहा। कांफ्रेंस में इतने मीडिया के लोग नहीं थे, जितनी ही महिला पदाधिकारी पहुंची हुई थीं।

आखिर में पंडितजी का बर्थ-डे
महेंद्रगढ़ वाले पंडितजी की कार रोजाना 350 किलोमीटर से अधिक चलती है। भागदौड़ भी कुछ ज्यादा करते हैं। इसी हफ्ते उनका जन्मदिन था। चंडीगढ़ में सीएम आवास पर मुख्यमंत्री ने उनका मुंह मीठा करवाया। दोपहर बाद वे भिवानी पहुंच गए। यहां पंडित के जन्मदिन को यादगार बनाने के लिए आयोजित रक्तदान शिविर में 1140 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया। 351 लोग ही रक्तदान कर पाए। मेडिकल टीम ने संसाधन उपलब्ध नहीं होने से हाथ खड़े कर दिए। विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं ने उनका सम्मान और अभिनंदन किया।

-दिनेश भारद्वाज


Comments Off on बाबा के चेले
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.