लघु सचिवालय में खुला बेबी डे-केयर सेंटर !    बुजुर्ग कार चालकों से होने वाले हादसे रोकने के विशेष उपाय !    कुत्तों ने सीख लिया है भौंहें मटकाना! !    शांत क्षेत्र में सैन्य अफसरों को फिर से मुफ्त राशन !    योगी के भाषण, संदेश संस्कृत में भी !    फर्जी फर्म बनाकर किया 50 करोड़ से ज्यादा जीएसटी का फर्जीवाड़ा !    जादू दिखाने हुगली में उतरा जादूगर डूबा !    प्राकृतिक स्वच्छता के लिए यज्ञ जरूरी : आचार्य देवव्रत !    मानवाधिकार आयोग का स्वास्थ्य मंत्रालय, बिहार सरकार को नोटिस !    बांग्लादेश ने विंडीज़ को 7 विकेट से रौंदा, साकिब का शतक !    

दादरी की जनता को 20 साल बाद मिला जिला

Posted On October - 18 - 2016

चंडीगढ़/ भिवानी, 18 अक्तूबर (ट्रिन्यू/हप्र)

दादरी को जिला व बाढड़ा को उपमंडल की मंजूरी मिलने पर मंगलवार को खुशी मनाते भाजपा कार्यकर्ता। हप्र

दादरी को जिला व बाढड़ा को उपमंडल की मंजूरी मिलने पर मंगलवार को खुशी मनाते भाजपा कार्यकर्ता। हप्र

रैली के ठीक एक महीने बाद मंगलवार को भाजपा सरकार ने कैबिनेट मीटिंग में दादरी को जिला बनाने और बादली को उपमंडल बनाने पर मोहर लगा दी। माना जा रहा है कि नवंबर के पहले हफ्ते में जिले भर के अधिकारी दादरी में प्रशासनिक कामकाज शुरू कर देंगे। दादरी की जनता पिछले 20 वर्षों से जिला बनाने की मांग करती आ रही थी।
विभिन्न पार्टियों ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में भी दादरी को जिले का दर्जा देने का वादा किया था। दादरी के जिला व बाढड़ा को उपमंडल बनने की मुहर लगने के बाद पर जहां स्थानीय लोग खुश हैं, राजनीतिकों में श्रेय लेने की होड़ है। कांग्रेसी अपने कार्यकाल के दौरान जिले का ढांचा तैयार करने की बात कह रहे हैं। गत 18 सितंबर को दादरी की नई अनाजमंडी में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट‍्टर ने विकास रैली में दादरी को प्रदेश का 22वां जिला व बाढड़ा को उपमंडल बनाने की घोषणा की थी।
घोषणा के बाद से चर्चाओं का दौर भी शुरू हो गया था कि अधिकारिक रूप से दादरी जिला कब से स्वरूप धारण करेगा। ठीक एक महीने बाद कैबिनेट मीटिंग में दादरी को जिला व बाढड़ा को उपमंडल बनाकर मोहर लग गई है। हालांकि दादरी में जिला अधिकारियों के लिए पुराना एसडीएम कार्यालय व मिनी सचिवालय तैयार है। माना जा रहा है कि उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक आदि अधिकारियों के लिए दादरी में बने किसान माॅडल स्कूल की बिल्डिंग में आॅफिस बनाया जाएगा। स्कूल की बिल्डिंग तैयार है, जिसमें 80 कमरे बनाए गए हैं।
भाजपा संगठनात्मक रूप से प्रदेश में पहले से 22 जिले मानती है। दादरी में भाजपा जिलाध्यक्ष की भी नियुक्त करती है। दादरी 1932 में जींद रियासत का जिला था। भिवानी को जिला बनाने के दौरान भी क्षेत्र के लोगों को दादरी जिला बनने की आशा थी। लेकिन दादरी को जिला नहीं बनाया गया। बाद में झज्जर व मेवात जिलों की घोषणा के दौरान भी दादरी को जिले का दर्जा नहीं दिया गया। दादरी हरियाणा का सबसे बड़ा उपमंडल था और इसमें 172 गांव शामिल थे। दादरी जिले में बाढड़ा को उपमंडल बनाया गया है। लेकिन कस्बा झोझू कलां के लोगों को एक बार फिर निराश होना पड़ा है।
माना जा रहा था कि झोझृू कलां को तहसील बनाया जाएगा। वहीं दादरी के साथ लगते महेंद्रगढ़, रेवाड़ी व झज्जर जिले की करीब 50 ग्राम पंचायतें दादरी जिले में शामिल होने के लिए प्रस्ताव पास कर सरकार के पास भेज चुकी हैं।

हुड्डा सरकार के वक्त बने थे 2 नये जिले
पूर्व हुड्डा सरकार के कार्यकाल में राज्य में 2 – मेवात और पलवल नये जिले बने थे। हालांकि चौटाला सरकार ने सत्यमेवपुरम नाम से मेवात को जिला बनाया था, लेकिन केंद्रीय चुनाव आयोग ने उनके फैसले को रद्द कर दिया था। इसके बाद हुड्डा ने 5 मार्च, 2005 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण करने के बाद 11 मई को बुलाई मंत्रिमंडल की पहली ही बैठक में मेवात को राज्य का 20वां जिला बनाने का फैसला लिया था। इसके बाद उन्होंने 15 अगस्त, 2008 को पलवल को राज्य का 21वां जिला बनाया। इस हिसाब से अब लगभग 8 वर्षों के बाद कोई नया जिला प्रदेश में बना है।

बादली उपमंडल बना  इलाके के लोग खुश
 झज्जर(हप्र): ब्रिटिश काल में तहसील रह चुकी बादली अब बार फिर से उपमंडल के तौर पर बहाल हो गई है। लंबे इंतजार के बाद बादली में विकास की नई किरण देखने को मिली है। देश की राजधानी के सटे होने के बावजूद विकास के मामले में पिछड़ा विधानसभा क्षेत्र बादली के भाग्य का फैसला चंडीगढ़ में मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में हुआ। बैठक में बादली को उपमंडल का दर्जा दिए जाने पर मंजूरी मिल गई। हरियाणा बनने के बाद पहली बार बादली हलके को जो सौगात मिली है वह स्वयं ही विकास के सभी द्वार खोल देगी। बादली हलके की जनता ने पहली बार यह सीट भाजपा की झोली में डाली हुई है। जिसका प्रतिनिधित्व भी कृषि मंत्री ओपी धनखड़ कर रहे हैं जो स्वयं में कमेटी के अध्यक्ष भी हैं। बादली ओद्यौगिक, शैक्षणिक, स्वास्थ्य सेवा में काफी पिछड़ा है। वैसे गांव बाढ़सा में स्वास्थ्य सेवा के तहत एम्स-2 और ओद्यौगिक क्षेत्र में एसईजैड जैसे बड़े प्रोजेक्ट हैं।


Comments Off on दादरी की जनता को 20 साल बाद मिला जिला
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.