फिरोजपुर-झिरका में एक भी हेडमास्टर नहीं !    इससे अच्छी सफाई और खाना तो जेल का है !    सूने घर का ताला तोड़कर नकदी, आभूषण चोरी !    ‘बजट की कमी के चलते 6 माह से नहीं मिला वेतन’ !    स्कूलों को बंद करने पर प्रदर्शन !    विकास पर खर्च होंगे 2.79 करोड़ रुपये !    बढ़ा बस किराया जनता पर बोझ !    चीन में 150 की मौत, संसद सत्र स्थगित !    जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के लिये 3 जजों की सिफारिश !    देहरादून-दिल्ली की दूरी घटाएगा एक्सप्रेस-वे !    

400 वर्ष बाद शनि शिंगणापुर में महिलाओं ने की पूजा

Posted On April - 8 - 2016

अहमदनगर (महाराष्ट्र), (एजेंसी)

10804cd _truptiशनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के पवित्र चूबतरे की पूजा नहीं करने की 400 साल पुरानी परंपरा शुक्रवार को टूट गयी। ट्रस्ट की ओर से महिलाओं को भी मंदिर के पवित्र स्थान पर पूजा करने की इजाजत मिलने के बाद 2 महिलाओं ने वहां पूजा की। इसके बाद भू माता ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई ने चबूतरे में प्रवेश कर शनि की पूजा की।
अब त्र्यंबकेश्वर, महालक्ष्मी मंदिर की बारी : ट्रस्ट के इस फैसले का तृप्ति देसाई ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा, ‘‘देर से आए लेकिन दुरुस्त आए।’’ उन्होंने उम्मीद जतायी नासिक के त्र्यंबकेश्वर और कोल्हापुर के महालक्ष्मी मंदिर भी महिलाओं के खिलाफ अन्यायपूर्ण स्थिति पर ऐसे ही निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि 13 अप्रैल को कोल्हापुर स्थित महालक्ष्मी मंदिर के गर्भगृह में 500 महिलाओं के साथ हमारा आंदोलन होगा।
बॉम्बे हाईकोर्ट ने 1 अप्रैल को आदेश दिया था कि पूजा स्थलों पर पूजा करना महिलाओं का मूल अधिकार  है। इसके बावजूद मंदिर की तरफ से किसी भी विवाद से बचने के लिए परंपरा को छोड़ने का ऐलान कर महिला व पुरुष दोनों को ही चबूतरे से दूर रखने का फैसला किया गया था। गुड़ी पड़वा के अवसर पर कुछ लोग बैरिकेड तोड़ते हुए पवित्र चबूतरे पर पहुंच गये और पूजा की। ट्रस्ट की ओर से शुक्रवार को सभी को पूजा करने की इजाजत देने का ऐलान कर दिया।


Comments Off on 400 वर्ष बाद शनि शिंगणापुर में महिलाओं ने की पूजा
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.