लघु सचिवालय में खुला बेबी डे-केयर सेंटर !    बुजुर्ग कार चालकों से होने वाले हादसे रोकने के विशेष उपाय !    कुत्तों ने सीख लिया है भौंहें मटकाना! !    शांत क्षेत्र में सैन्य अफसरों को फिर से मुफ्त राशन !    योगी के भाषण, संदेश संस्कृत में भी !    फर्जी फर्म बनाकर किया 50 करोड़ से ज्यादा जीएसटी का फर्जीवाड़ा !    जादू दिखाने हुगली में उतरा जादूगर डूबा !    प्राकृतिक स्वच्छता के लिए यज्ञ जरूरी : आचार्य देवव्रत !    मानवाधिकार आयोग का स्वास्थ्य मंत्रालय, बिहार सरकार को नोटिस !    बांग्लादेश ने विंडीज़ को 7 विकेट से रौंदा, साकिब का शतक !    

नसीबपुर के अमर शहीदों को दी श्रद्धांजलि

Posted On November - 16 - 2014

नारनौल, 16 नवम्बर (अस)

नारनौल के नसीबपुर शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए विधायक ओमप्रकाश यादव व अन्य। -अस

1857 के अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए रविवार को नसीबपुर के शहीद स्मारक स्थल पर समाज तथा राजनीति के अनेक लोग शहीदों के स्मारक पर पुष्प अर्पित करने के लिए एकत्र हुए। इस अवसर पर स्मारक स्थल पर एक सभा का आयोजन कर अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी तथा उनकी कुर्बानी को याद किया। इस समारोह की अध्यक्षता भारत रत्न रामदत्त यादव ने की और इसके मुख्य अतिथि के रूप में नारनौल के विधायक ओमप्रकाश यादव थे। इस अवसर पर यहां एकत्र लोगों ने शहीदों को याद करते हुए कहा कि आज भी हम प्रथम स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर अपने का धन्य समझते हैं तथा यदि ऐसे वीरों को समय-समय पर याद करते रहेंगे तो ही हम अपने अस्तित्व को बनाये रख सकते हैं।
अध्यक्षीय भाषण में भारत रत्न रामदत्त यादव ने कहा कि इसी शहीद स्मारक के पास 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में इस क्षेत्र के हजारों जवानों ने राव तुलाराम तथा राव रामलाल के नेतृत्व में लड़ते हुए वीर गति प्राप्त की थी। इस संग्राम में राव तुलाराम ने बड़ी वीरता से युद्ध लड़ा था, लेकिन भाग्य ने यहां के वीरों का साथ नहीं दिया तथा वे अंग्रेजों की बड़ी सेना तथा आधुनिक हथियारों के सामने हारने को मजबूर हुए। इस संग्राम में राव तुलाराम किसी तरह बच गए तथा वे काबुल चले गए, जहां उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ अंतिम युद्ध करने के लिए तैयारी की, लेकिन यहां भी भाग्य ने उनका साथ नहीं दिया तथा वे बीमारी के कारण मौत को गले लगा गए। इस ऐतिहासिक युद्ध में रेवाड़ी तथा पूरे अहीरवाल के हजारों वीरों ने इस तरह युद्ध किया कि आज भी अंग्रेज इस युद्ध को याद कर यहां के जवानों की वीरता को दाद देते हैं।
इस अवसर पर स्थानीय विधायक ओमप्रकाश यादव ने कहा कि इस क्षेत्र के राजा राव तुलाराम ने अहीरवाल को जीते जी अंग्रेजों के साथ समझौता नहीं किया तथा वे मरते दम तक अंग्रेजों के खिलाफ संघर्ष करते रहे। इस युद्ध में हरियाणा के हजारों जाने-माने वीरों ने एक साथ मिलकर अपने वतन के लिए कुर्बानी दी थी।
इस अवसर पर दिल्ली यादव सभा के प्रधान अनिल यादव इंजीनियर, रोहतास चेयरमैन, जसवंत प्रभाकर, छोटेलाल चुड़ेली, रामौतार ठेकेदार, भूपसिंह सरपंच, सत्यव्रत शास्त्री, ओमप्रकाश आर्य, मोन शर्मा, साधुराम, दयानंद एडवोकेट, अनूप एडवोकेट, चन्द्रकला नोताना तथा अनिल यादव आदि भी उपस्थित थे। अन्य पार्टियों के नेताओं ने भी स्मारक पर शहीदों को श्रद्धाजंलि दी-एक ओर भाजपा की ओर से यहां शहीदों की याद में सभा का आयोजन किया वहीं अन्य पार्टियों ने नेताओं ने स्मारक स्थल पर आकर शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि देकर शहीदों की शहादत को नमन किया। इसमें इनैलो के चौ. भानाराम सैनी, ओमप्रकाश सोनी, विधानंद , सुरेन्द्र पटीकरा, सत्यबीर बडेसरा, जसबीर ढिल्लो, सत्तू खटीक आदि प्रमुख थे।
नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच का शिविर लगाया गया : स्मारक स्थल पर इस अवसर पर शहीद राव रामलाल के परिजनों ने एक नि:शुल्क स्वास्थ्य एवं रोग परामर्श शिविर लगाया, जिसमें राव रामलाल की प्रपोत्री डा. वंदना राव तथा वैजंती राव आदि भी उपस्थित थीं।
रेवाड़ी (अस) : स्वयंसेवी संस्था ग्रामीण भारत के अध्यक्ष एवं हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डेलीगेट वेदप्रकाश विद्रोही ने नसीबपुर नारनौल के मैदान में 157 वर्ष पूर्व देश की आजादी के लिए 16 नवम्बर, 1857 को राव तुलाराम के नेतृत्व में शहीद हुए लगभग पांच हजार वीर शहीद सैनिकों को अपने कार्यालय में भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
नसीबपुर के मैदान में शहीद हुए इन वीर सैनिकों को कपिल यादव, अमन कुमार, अजय कुमार, प्रदीप यादव, कुमारी वर्षा व महेन्द्र सिंह ने अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये। विद्रोही ने कहा कि आज से 157 वर्ष पूर्व एक ही दिन में लगभग पांच हजार भारत के वीर सैनिकों ने अंग्रेजी सेनाओं के खिलाफ नसीबपुर के मैदान में शहादत देकर दुनिया के युद्ध इतिहास में ऐसी मिसाल कायम की, जिसका उदाहरण शायद ही कहीं मिले।


Comments Off on नसीबपुर के अमर शहीदों को दी श्रद्धांजलि
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.