लघु सचिवालय में खुला बेबी डे-केयर सेंटर !    बुजुर्ग कार चालकों से होने वाले हादसे रोकने के विशेष उपाय !    कुत्तों ने सीख लिया है भौंहें मटकाना! !    शांत क्षेत्र में सैन्य अफसरों को फिर से मुफ्त राशन !    योगी के भाषण, संदेश संस्कृत में भी !    फर्जी फर्म बनाकर किया 50 करोड़ से ज्यादा जीएसटी का फर्जीवाड़ा !    जादू दिखाने हुगली में उतरा जादूगर डूबा !    प्राकृतिक स्वच्छता के लिए यज्ञ जरूरी : आचार्य देवव्रत !    मानवाधिकार आयोग का स्वास्थ्य मंत्रालय, बिहार सरकार को नोटिस !    बांग्लादेश ने विंडीज़ को 7 विकेट से रौंदा, साकिब का शतक !    

श्लोक की भूमिका चुनौतीपूर्ण अविनाश

Posted On August - 31 - 2013

धारावाहिक छोटी बहू में देव की लोकप्रिय भूमिका निभाने के बाद अविनाश सचदेव लंबे अन्तराल के बाद स्टार प्लस के नए धारावाहिक इस प्यार को क्या नाम दूं-एक बार फिर में श्लोक की भूमिका में दर्शकों के लिए उपलब्ध हो रहे हैं। श्लोक की भूमिका अविनाश द्वारा निभायी गयी देव की पूर्व भूमिका से काफी अलग और चुनौतीपूर्ण है। श्लोक गंभीर है। वह स्त्री को हेय दृष्टि से देखता है। उसकी नजर में स्त्री कभी भी पुरुष की बराबरी नहीं कर सकती है। सुलझे और खुशमिजाज़ देव की भूमिका निभाने के बाद अक्खड़ और खड़ूस श्लोक की भूमिका निभाने की चुनौती और अनुभव बांटते हुए अविनाश कहते हैं, इस बार बिलकुल अलग भूमिका निभा रहा हूं। देव से काफी अलग है श्लोक। हर बार अलग-अलग भूमिकाएं निभाने की चुनौती लेना चाहता हूं। मेरे दोस्तों ने मुझे कभी ऐसी भूमिका में नहीं देखा है। यही वजह है कि श्लोक की भूमिका में मुझे देखकर वे चौंक गए थे।
गौरतलब है कि बालाजी टेलीफिल्म्स के कई धारावाहिकों में अभिनय करने के बाद जी टीवी के लोकप्रिय धारावाहिक छोटी बहू में नायक देव की भूमिका निभाने के बाद अविनाश को उनके हिस्से की लोकप्रियता और स्वीकार्यता मिली। अविनाश बताते हैं,मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे एक्टिंग करनी है। बड़ौदा में मेरा फैमिली बिजनेस है। मेरी रुचि ना ही फिल्मों में थी और ना ही धारावाहिकों में। सब कुछ चेंज हुआ बारहवीं की परीक्षाओं के बाद। उस समय शौकिया तौर पर मैंने मिस्टर बड़ौदा,मिस्टर यूनिवर्सिटी जैसी प्रतियोगिताओं में पार्टीसिपेट किया। सभी में मैं विजेता घोषित किया गया। उस समय ग्लैमर फील्ड में थोड़ा-बहुत इंटरेस्ट जागने लगा और मैं मुंबई शिफ्ट हो गया। यहां आने के बाद कुछ कमर्शियलों में अभिनय का मौका मिला। फिर धारावाहिक भी मिलने लगे। सबसे पहले बालाजी टेलीफिल्म्स के किस देश में है मेरा दिल,ख्वाहिश और करम अपना-अपना धारावाहिकों में अभिनय किया। उसके बाद छोटी बहू में देव की भूमिका निभाने का अवसर मिला।
छोटी बहू से मिली लोकप्रियता और प्रशंसकों के बड़े समूह के कारण अविनाश छोटे पर्दे के स्टार अभिनेताओं में शुमार हुए। छोटी बहू से जुड़ी यादें ताज़ा करते हुए अविनाश कहते हैं, छोटी बहू से मेरा इमोशनल जुड़ाव-सा बन गया था। मैं लीड एक्टर था इसलिए ऐसा नहीं कह रहा हूं। जिस दिन मेरी शूटिंग नहीं होती थी उस दिन भी मैं सेट पर पहुंच जाता था। तब मैं असिस्टेंट डॉयरेक्टर का काम करता था। छोटी बहू के सेट पर मैंने यादगार लम्हे बिताए हैं। गौरतलब है कि छोटी बहू के ही सेट पर अविनाश को उनकी भावी जीवन संगिनी रुबीना दिलैक मिलीं। रुबीना छोटी बहू की नायिका थीं,तो अविनाश नायक।
अविनाश का लक्ष्य अच्छी भूमिकाएं निभाना और व्यस्त रहना है। साथ ही वे खुद को किसी माध्यम में सीमित नहीं करना चाहते हैं। अविनाश कहते हैं,इस इंडस्ट्री में आ चुका हूं तो मेरी कोई लिमिटेशन नहीं है। मेरे लिए एक्टिंग मेरा काम है फिर यह मौका कहीं भी मिले। मुझे तो बस काम करना है।

-सौ.


Comments Off on श्लोक की भूमिका चुनौतीपूर्ण अविनाश
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.