प्रेस लिखे वाहन में यूपी से आए 3 लोग भेजे शेल्टर होम !    शेल्टर होम में रहने वालों को मिलेंगी सभी सुविधाएं !    द. अफ्रीका में जन्मे कॉनवे को न्यूजीलैंड से खेलने की छूट !    तबलीगी जमात के कार्यक्रम ने बढ़ाई चिंता !    ‘बढ़ाना चाहिए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का समय’ !    लंकाशर क्लब चेयरमैन हॉजकिस की कोरोना से मौत !    24 घंटे में बनायें सही सूचना देने वाला पोर्टल : सुप्रीम कोर्ट !    भारत-चीन को छोड़कर बाकी विश्व में मंदी का डर !    भारत में तय समय पर होगा अंडर-17 महिला विश्वकप !    हिमाचल में 14 तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय !    

बिजली शिकायतों संबंधी शुरू पायलट परियोजना के अच्छे परिणाम

Posted On May - 19 - 2010

पंचकूला, 18 मई (अस )। पंचकूला जिले के गांव वासुदेवपुर और रायपुररानी में दो शिकायत केन्द्रों में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा साक्षर महिला समूहों (एसएमएस)के माध्यम से बिजली संबंधित शिकायतों को रजिस्टर करने के लिए शुरू की गई पायलट परियोजना के अच्छे परिणाम सामने आ रहे  हैं। जानकारी देते हुए निगम के प्रवक्ता ने बताया कि एसएमएस के सदस्यों द्वारा दर्ज की गई शिकायतों को स्टाफ द्वारा तत्परता से सुलझाया जा रहा हैं। उनके द्वारा औसतन एक घंटे से भी कम समय में शिकायतें दूर की जा रही है। आमतौर पर उपभोक्ता द्वारा 2 से 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित शिकायत केन्द्रों पर एक घंटे में पहुंचने में असमर्थ होते हैं और इसमें काफी धन और समय बर्बाद होता है।
एसएमएस की प्रतिनिधि  पूनम गांव वासुदेवपुर, दामला, करणपुर, जोहलूवाल, प्रेमपुरा, शाहपुर, नवानगर, खोल मोला, खोलमोला फतेहपुर और मढ़ावाला में बिजली वितरण संबंधित शिकायतों को दर्ज करती है। एसएमएस की एक अन्य प्रतिनिधि सुशीला रायपुररानी कस्बे के उपभोक्ताओं की शिकायतों को दर्ज करती है।
प्रवक्ता ने कहा कि एसएमएस कार्यकर्ताओं को एक मोबाइल फोन और लेखन सामग्री उपलब्ध करवाई गई है। निगम प्रत्येक सदस्य को 700 रुपये प्रति माह मानदेय भी अदा करता है। उनमें से अनेक सदस्यों को क्षेत्र में बिल वितरण और मीटर रीडिंग लेने की जिम्मेदारी भी सौंपी गई है। निगम ने फील्ड अधिकारियों को एसएमएस कार्यकर्ताओं की योग्यता और इच्छा के आधार पर कार्य सौंपने की जिम्मेदारी दी है। उन्होंने कहा कि एसएमएस ने अप्रैल माह के दौरान 925 शिकायतें दर्ज की थी और स्टाफ के सदस्यों ने इन सभी शिकायतों की सुनवाई की है। एसएमएस के सदस्यों को निगम के कमांड क्षेत्र के 32 गांवों में शिकायतें दर्ज करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। प्रवक्ता ने बताया कि रायपुररानी में शिकायत दूर करने में औसतन 31 मिनट तथा पिंजौर में 45 मिनट का समय लगा। इन केन्द्रों पर क्रमश: 35 और 95 बिजली वितरण संबंधित शिकायतें दर्ज की गई थी।


Comments Off on बिजली शिकायतों संबंधी शुरू पायलट परियोजना के अच्छे परिणाम
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.