प्रेस लिखे वाहन में यूपी से आए 3 लोग भेजे शेल्टर होम !    शेल्टर होम में रहने वालों को मिलेंगी सभी सुविधाएं !    द. अफ्रीका में जन्मे कॉनवे को न्यूजीलैंड से खेलने की छूट !    तबलीगी जमात के कार्यक्रम ने बढ़ाई चिंता !    ‘बढ़ाना चाहिए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का समय’ !    लंकाशर क्लब चेयरमैन हॉजकिस की कोरोना से मौत !    24 घंटे में बनायें सही सूचना देने वाला पोर्टल : सुप्रीम कोर्ट !    भारत-चीन को छोड़कर बाकी विश्व में मंदी का डर !    भारत में तय समय पर होगा अंडर-17 महिला विश्वकप !    हिमाचल में 14 तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय !    

छतबीड़ चिडिय़ाघर में लाए गये तेंदुए की मौत

Posted On May - 19 - 2010

छतबीड चिडिय़ा घर में मृत पड़ा तेंदुआ। -छाया निस

जीरकपुर/मनीमाजरा, 18 मई (निस)। छतबीड़ चिडिय़ाघर में कुछ दिन पहले रोपड़ जिला के ब्राह्मïणपुर गांव से बेहोशी की हालत में लाये गए  ढाई वर्षीय तेदुएं ने आज तड़के जख्मों की ताव न सहते हुए दम तोड़ दिया।
जानकारी के मुताबिक ब्राह्मïणपुर गांव में जंगलों से भटक कर कुछ दिन पहले एक तेंदुआ घुस आया था जिसकी गांव वालों ने खबर वन्य प्राणी विभाग को की थी। विभाग के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर तेंदुए को बेहोशी की दवा वाले टीके  भर कर बंदूक से फायर किया था जिसमें तेंदुआ काबू कर लिया गया था। बाद में वन्य प्राणी विभाग के अधिकारी तेंदुए को छतबीड़ चिडिय़ा घर में सौंप गए। लेकिन उस वक्त तेंदुआ बेहोशी की हालत में ही था।
बताया गया है कि तेंदुए के जख्म ज्यादा होने के कारण उसने उनकी ताव नहीं सही और आज करीब ढाई बजे तड़क वह दम तोड़ गया। जू के फील्ड डायरेक्टर टीआर बहेड़ा के अनुसार तेंदुए को बीफ, चिकन, जिंदा चिकन व मीट भी परोसा गया जिसे उसने नहीं चखा।
तेंदुए को दी गई बेहोशी की अत्यधिक दवा उसकी मौत का एक कारण रही जबकि जानवर अंंदरुनी व बाहरी तौर पर घायल पाया गया।
मृत तेंदुए का पोस्टमार्टम वरिष्ठ पशु चिकित्सक  एवं अधिकारी छतबीड़ जू डा. निर्मलजीत सिंह और छत गांव के पशु चिकित्सक डा. राज कुमार के पैनल ने किया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में तेंदुए की मौत का कारण ज्यादा खून बहने के कारण हुई और उसके शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे जोकि संभवत: गांव वालों की मारपीट के कारण हुए होंगे।


Comments Off on छतबीड़ चिडिय़ाघर में लाए गये तेंदुए की मौत
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.