अल-कायदा से जुड़े 3 आतंकवादी ढेर, जाकिर मूसा गिरोह का खात्मा !    एटीएम, रुपये छीनकर भाग रहे बदमाश को लड़की ने दबोचा !    दुष्कर्म के प्रयास में कोचिंग सेंटर का शिक्षक दोषी करार !    सिविल अस्पताल में तोड़फोड़ के बाद हड़ताल !    पीठासीन अधिकारी सहित 3 गिरफ्तार !    ‘या तो गोहाना छोड़ दे नहीं तो गोलियों से भून देंगे’ !    अमेरिका भारत-पाक के बीच सीधी वार्ता का समर्थक !    कुंडू ने की ज्यादा एजेंट बैठाने की मांग !    मनी लांड्रिंग : इकबाल मिर्ची का सहयोगी गिरफ्तार !    छात्रा की याचिका पर एसआईटी, चिन्मयानंद से जवाब तलब !    

गुस्से को ऐसे करें नियंत्रित

Posted On March - 28 - 2010

अगर आपको लगता है कि आप अपने गुस्से को नियंत्रित करने में असमर्थ हो रहे हैं तो नीचे दिए गए कुछ बिंदुओं को आजमाकर देखें। इन्हें आजमाकर आप न सिर्फ अपने गुस्से को नियंत्रित कर सकेंगे बल्कि आपके व्यक्तित्व में भी सुधर होंगे।
गुस्से में खर्च होने वाली अपनी ऊर्जा को सकारात्मक दिशा में ले जाएं। व्यायाम इसका सबसे अच्छा जरिया है। रोज एक सीमित समयावधि के नियम से व्यायाम करें, ऐसा करके आपका दिमाग चुस्त-दुरुस्त रहेगा और मस्तिष्क में अच्छे विचार जन्म लेंगे।
अगर आपको छोटी-छोटी बात पर गुस्सा आता है तो रोजाना 10 मिनट तक श्वास संबंधी व्यायाम करें। आप इसे ड्राइविंग करते हुए या काम करते हुए भी कर सकते हैं, इसमें कुछ देर तक तेजी से सांस लेना व छोडऩा होता है। यह प्रक्रिया वैज्ञानिक रूप  से भी नर्वस सिस्टम को नियंत्रित करने में मदद करती है।जब भी गुस्से में दिमाग आपा खोने लगे तो 100 तक की गिनती गिनना शुरू कर दें। विशेषज्ञों का मानना है कि लोग अकसर बदले की आग में गिनती गिनना भूल जाते हैं जिससे यह प्रक्रिया उतनी सफल नहीं मानी जाती। लेकिन इसका अभ्यास करने पर गुस्से को भगाने का इससे बेहतर कोई और रास्ता नहीं है।
गुस्से को नियंत्रित करने के लिए जैकेप्सन की तकनीक अपनाएं। इस तकनीक के अनुसार गुस्सा शुरू होते ही बिना देर किए अपने शरीर को ध्यान से देखें और यह जानने की कोशिश करें कि गुस्से के कारण शरीर का कौन सा अंग ज्यादा उत्तेजित हो रहा है। उस उत्तेजित अंग को अपने स्पर्श से शांत करने की कोशिश करें। यही प्रक्रिया दूसरे अंगों पर भी आजमाएं। जैसे ही शरीर की उत्तेजित मांसपेशियां शांत होने लगेंगी आपके हृदय की गति सामान्य होने लगेगी और आप फीलगुड का एहसास करने लगेंगे। अपनी समस्याओं को कागज के एक टुकड़े पर लिखें। अब समस्या के कारण व्यक्ति या परिस्थिति, जो आपके गुस्से का कारण है, को निश्चिंत होकर खूब बुरा-भला कहें। इसके बाद कागज के उस टुकड़े को जला दें या उसे फाड़कर फेंक दें। ऐसा रोज रात को सोने से पहले करें, यह आश्चर्यजनक रूप से काम करेगा और आपका गुस्सा धीरे-धीरे नियंत्रित होने लगेगा।  गुस्से को कम करने के लिए खाली कुर्सी तकनीक का भी प्रयोग कर सकते हैं। इस तकनीक के तहत जिस व्यक्ति से आप नाराज हैं उसे अपने सामने पड़ी खाली कुर्सी पर बैठा हुआ मानें। उसके बाद खाली कुर्सी पर चिल्लाते हुए
उसे बताएं कि आप किस बात से नाराज हैं और आप क्या चाहते हैं? ऐसा करने पर आप फौरन राहत महसूस करेंगे। अपने विचारों को व्यक्तकरने का सबसे अच्छा माध्यम डायरी लिखना हो सकता है।
हर रात पेन उठाएं और पूरे दिनभर में आप कितनी बार, किस बात पर और किससे नाराज हुए इसका पूरा ब्योरा डायरी में लिखें। ऐसा करके आप अपने गुस्से के कारण व चक्र को समझ सकेंगे। गुस्से की समस्या को दूर करने के लिए सबसे जरूरी है स्वंय इसका एहसास होना कि क्या गलत है और क्या सही।
गुस्से को रोकने की बजाय इसे सही तरीके से व्यक्त करना सीखें। मसलन, आप अपने बॉस से नाराज होने पर उन्हें मेल या लेटर के जरिये अपनी बात से सहमत करा सकते हैं। ऐसा करके
बॉस के सामने आपकी छवि और भी बेहतर हो सकती है। अफवाहों को सुनकर उन पर भरोसा करना आपके गुस्से को बढ़ाने का प्रमुख कारण होता है। इसलिए अफवाहों से जितना हो सके दूर रहें।


Comments Off on गुस्से को ऐसे करें नियंत्रित
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.